पुरानी पेंशन बहाली की मांग:कर्मचारियों ने जलाई न्यू पेंशन स्कीम की अधिसूचना, आज के ही दिन जारी हुई थी

बहरोड़4 दिन पहले

बहरोड़ न्यू पेंशन स्कीम एंप्लाइज फेडरेशन ऑफ राजस्थान ने न्यू पेंशन स्कीम अधिसूचना की प्रतियां जलाकर विरोध प्रकट किया गया। आज ही दिन यह पेंशन स्कीम की अधिसूचना वर्ष 2004 में लागू की गई थी जिसका विरोध लंबे समय से हो रहा है।

जिला संयोजक जयदर्थ यादव के नेतृत्व में शुक्रवार को बहरोड़ के गांव कोहराना में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय अधिसूचना की प्रतियां जलायी गयी। उन्होंने बताया कि न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) राजस्थान में सभी राजकीय कार्मिकों के हित में घातक साबित हो रही है।

इससे कार्मिक का भविष्य सुरक्षित नहीं है, क्योंकि यह एनपीएस पूरी तरह से तीन कंपनियों के शेयर मार्केट पर आधारित है। ऐसे में एनपीएस को बंद कर ओपीएस (ओल्ड पेंशन स्कीम) को लागू किया जाए और न्यू पेंशन स्कीम बंद किया जाए।

बता दें कि राजस्थान के विभिन्न विभागों में करीब 5 लाख कार्मिक अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

इस दौरान प्रधानाचार्य अरविन्द कुमार, व्याख्याता सत्यवीर सिंह, सतीश कुमार, सरिता यादव, सरोज यादव, विष्णु शर्मा, सुशीला यादव, निशा गुप्ता, हिम्मत सिंह, बिजेंद्र सिंह,सविता, दीक्षा यादव, रामरती यादव, विकास कुमार, शीशराम, राजपाल यादव, सुरेंद्र कुमार भी शामिल रहे।

क्या है एनपीएस

जिला संयोजक ने बताया कि केंद्र की तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने पुरानी पेंशन को बंद कर नई पेंशन योजना 1 जनवरी 2004 को लागू की थी। पुरानी पेंशन योजना के तहत कर्मचारी को सेवानिवृत होने पर उसकी अंतिम तनख्वाह की पचास फीसदी मिलती थी।

लेकिन न्यू पेंशन स्कीम के तहत कर्मचारी की प्राइस सैलरी से दस फीसदी कटाैती की जाती है और उसके बराबर दस फीसदी ही सरकार जमा करती है। जब वह कर्मचारी सरकारी सेवा से रिटायर्ड होता है, तो शेयर मार्केट के आधार पर पेंशन शुरू होती है। जो पेंशन सेवानिवृति के समय निर्धारित होती है, वह 1200 रुपए, 1500 रुपए, 1800 रुपए और 2200 रुपए है।

14 जनवरी को अधिसूचना हुई थी लागू

केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2004 को न्यू पेंशन स्कीम लागू की थी। राजस्थान सरकार ने उसकी अधिसूचना को 14 जनवरी 2004 को लागू की। जिसका विरोध करते हुए अधिसूचना की कॉपियों को जलाई गई।

उपखंड मुख्यालय पर प्रदर्शन जिला संयोजक जयदर्थ यादव ने बताया कि शाम के समय उपखंड स्तर के सभी सरकारी कार्मिक, जो एनपीएस योजना में शामिल है। वह एकत्र होंगे और उपखंड मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...