पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फायरिंग प्रकरण में भिवाड़ी पहुंचे आईजी:आईजी बोले-हमें बदमाशों का चैलेंज स्वीकार, जल्द दबोचे जाएंगे, लोगों को डरने की कोई जरूरत नहीं है

भिवाड़ी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हरीश बेकरी में घटनास्थल का मुआयना करते समय प्रबंधन से जानकारी लेते आईजी। - Dainik Bhaskar
हरीश बेकरी में घटनास्थल का मुआयना करते समय प्रबंधन से जानकारी लेते आईजी।
  • शहर की सुरक्षा का बदलेगा खाका, रात-दिन तैनात रहेंगे हथियारबंद जवान

शहर के अलवर बाइपास स्थित हरीश बेकरी पर कार सवार 5 बदमाशों द्वारा कि गई अंधाधुंध फायरिंग के मामले में जयपुर रेंज आईजी हवासिंह घुमरिया मौका मुआयना करने मंगलवार को पहुंचे। यहां उन्होंने बेकरी के प्रबंधन से पूरे हालातों के संबंध में जानकारी ली। फायरिंग की जगहों को देखा और मौके पर मिले ग्राहकों से भी बातचीत की।

मुआयना करने के बाद आईजी ने भास्कर से बातचीत में कहा कि निश्चित तौर पर घटना काफी गंभीर है। गंभीर इसलिए है कि क्योंकि इसी तरह की वारदात इसी शहर में कुछ समय के अंतराल में रिपीट हुई है। बड़ी संख्या में फायर भी किए गए हैं। आईजी ने कहा कि शहर की सुरक्षा के लिए हम पूरी तरह गंभीर है। एसपी भिवाड़ी से इस संदर्भ में लंबी चर्चा हुई है। जिसके बाद हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे है कि शहर की सुरक्षा के वर्तमान खाके में बड़ा परिवर्तन किया जाएगा।

दिन और रात में सुरक्षा के लिए हथियारबंद पुलिस जवान अलग-अलग प्वाइंट पर तैनात किए जाएंगें। इसके लिए पर्याप्त नफरी जिले को दी जाएगी। आईजी ने कहा कि बातचीत में निकलकर आया कि लोगों में असुरक्षा का भाव है लेकिन बिल्कुल भी डरने की आवश्यकता नहीं है, पुलिस अपने काम में मुस्तैदी से लगी है। ऐसा मेरा विश्वास है कि बहुत जल्द ही आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।

हमें स्वीकार है बदमाशों का चैलेंज

आईजी ने स्वीकार किया कि पिछले दिनों की तरह की शहर में यह दूसरी वारदात हुई है। बदमाशों ने पुलिस को सीधा चैलेंज दिया है। हर बदमाश ऐसा प्रयास करता है। हमें उनका चैलेंज स्वीकार है। इस तरह की वारदात झुंझूनुं, जयपुर ग्रामीण व बहरोड़ में भी हुई, तीनों में हमने बदमाशों को पकड़ लिया। जल्द ही आपको बताएंगें कि चैलेंज में कौन कामयाब हुआ। एनसीआर गैंग्स के भिवाड़ी की तरफ रुख करने को लेकर उन्होंने कहा कि ये कहना ठीक नहीं है कि हमारे पास अन्य राज्यों की पुलिस के मुकाबले संसाधन नहीं है।

पपला के पीछे भी चार राज्यों की पुलिस थी लेकिन हमने करके दिखाया। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता किस अपराधी के पीछे कितने स्टेट की पुलिस लगी है। हमारे लिए वो अपराधी है, उन्होंने हमारे इलाके में अपराध किया है, उन्हें हम पकड़कर रहेंगे। इस दौरान उनके साथ भिवाड़ी एसपी राममूर्ति जोशी, एएसपी अरुण मच्या, एएसपी गुरुशरण राव मौजूद रहे।

डीआईजी क्राइम ने देखा चौपानकी में मौका

चौपानकी इलाके में सड़क पर दौड़ लगाते समय वाहन की टक्कर से मरे युवक के मामले में डीआईजी (क्राइम) अनिल टांक चौपानकी पहुंचे। उन्होंने यहां घटनास्थल का मौका मुआयना किया और मृतक युवक के परिजनों से भी बात की। साथ ही पुलिस के अधिकारियों से मामले में अब तक की कार्रवाई व जांच की स्थिति को जाना।

खबरें और भी हैं...