पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अलर्ट:मलेरिया व डेंगू का खतरा बढ़ा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आज से शुरु होगी जांच

भिवाड़ी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मौसमी बीमारियों के सीजन में अब कोरोना के साथ मलेरिया और डेंगू का खतरा बढ़ गया है। निजी अस्पतालों में प्लेटलेट्स कम होने के मरीज पहुंचने लगे हैं। ऐसे में अब सीएचसी प्रशासन गुरुवार से मलेरिया और ब्लड की अन्य आवश्यक जांचें शुरु कराने की बात कह रहा है। भिवाड़ी की निजी लैबों की जांच में मलेरिया के रोगी सामने आ रहे हैं। वहीं वायरल का भी जोर है। ऐसे में प्लेटलेट्स कम होने के मरीजों की संख्या भी पिछले दस दिनों से निजी अस्पतालों में बढ़ रही है। डॉक्टरों ने बताया कि डेंगू संक्रमण में सबसे पहले प्लेटलेट्स को नुकसान पहुंचता है, लेकिन गंभीर वायरल बुखार सहित अन्य कारण भी इसकी वजह हो सकते हैं ।

भिवाड़ी सीएचसी में लक्षण वाले मरीजों की कोरोना की जांच ही प्राथमिकता से की जा रही है। ऐसे में मरीज सरकारी अस्पताल जाने से भी कन्नी काट रहे हैं वो निजी लैबों पर जांच करा रहे हैं। सीएचसी में अभी तक मलेरिया और ब्लड की आवश्यक जांचें भी कोरोना के कारण शुरु नहीं हो सकी है।

आज से शुरु होगी जांच: सीएचसी प्रभारी डॉ. कमलकिशोर शर्मा ने बताया कि हमारे पास दो लैब टेक्नीशियन हैं। जो कोरोना की जांच में लगे हुए हैं। लेकिन अब मलेरिया और वायरल फीवर के मरीजों को देखते हुए गुरुवार से सीएचसी में मलेरिया सहित ब्लड की आवश्यक जांचों की सुविधा भी सुचारु करा दी जाएगी। इसके लिए अलग से व्यवस्था कर रहे हैं। चिकित्सकों ने बताया कि ब्लड में 1.5 से 4 लाख तक प्लेटलेट्स काउंट होना नॉर्मल माना जाता है। इसकी मात्रा 20 हजार तक होने पर घबराने की जरूरत नहीं होती, क्योंकि इस हालत तक मरीज को ब्लीडिंग नहीं होती। इसके बाद हाथ, नाक, मुंह के जरिए अथवा पेट के अंदर भी ब्लीडिंग हो सकती है।

बरसात के मौसम में मच्छर के काटने से डेंगू का खतरा बना रहता है। डेंगू का पता ब्लड टेस्ट से चलता है लेकिन खून में प्लेटलेट्स का कम होना डेंगू ही नहीं होता। इसके लिए और भी टेस्ट करने होते हैं। डेंगू फैलाने वाला मच्छर साफ पानी पर पनपता है और बिना ढके पानी की टंकियों, गमलों, पुरानी बोतलों, पुराने टायरों आदि में मच्छर पैदा होता है। घरों में लगे वाटर कूलर इसके पैदा होने का सबसे मुख्य जरिया हैं। इस मच्छर के काटने का विशेष समय सुबह या शाम को होता है।डेंगू का बुखार अचानक और तेज होता है। सिर दर्द, मांसपेशियों जोड़ों में दर्द, उलटी इसके लक्षण हैं।

शरीर कमजोर हो जाता है और कई बार नाक मुंह मसूड़ों, पेशाब चमड़ी से खून का रिसाव हो सकता है।बरसात के मौसम में डेंगू बचना है तो घरों, दुकानों के आसपास कोई भी ऐसा खराब या पुराना सामान नहीं पड़ा होना चाहिए, जिसमें बारिश का पानी एकत्रित होता हो। समय-समय पर इनकी सफाई करनी चाहिए। इसी तरह घरों में लगे कूलरों का पानी हफ्ते में एक बार बाहर निकालना चाहिए और उन्हें अच्छी तरह से साफ किया जाना चाहिए। छत्तों पर पानी की टंकियों को अच्छी तरह से ढक कर रखना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें