पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

व्यापार को भी हुआ कोरोना!:शादियां सीमित; साढ़े 3 कराेड़ का कारोबार ठप, चारों ओर से परेशान व्यापारी

भिवाड़ी18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भिवाड़ी में हर सावे पर हाेती हैं 50 शादी, 50 लाेगों की पाबंदी से कामकाज नहीं मिल रहा

काेराेना की दूसरी लहर ने व्यापार पर दाेबारा से चाेट की है। बुधवार काे रामनवमी से फिर से शादियों के आयोजन शुरु हाे गए। लेकिन काेराेना संक्रमण फैलने से कई क्षेत्रों में स्थिति खराब हुई हैं। शादियों से जुड़े इवेंट मैनेजर भी इसकी मार झेल रहे हैं।

काेराेना थमा ताे लाेगाें ने बुकिंग कराई लेकिन काेराेना फैलने के साथ ही कैंसिल करा रहे हैं। हाेटल व्यवसाय से जुड़े जितेंद्र नरुका के अनुसार भिवाड़ी में हर सावे पर करीब 50 शादी हाेती हैं। फिलहाल भिवाड़ी में 15 हाेटल एवं 25 मैरिज हाेम चल रहे हैं। इसके अतिरिक्त लाेग अपनी निजी जगहों पर भी आयोजन करते हैं। 500 लाेगाें की एक शादी पर औसतन साढ़े सात लाख रुपए का खर्च आता है। लेकिन अब 50 लाेगाें की पाबंदी के चलते यह खर्चा लाख रुपए तक भी नहीं पहुंच पा रहा। ऐसे में हर सावे पर भिवाड़ी में इवेंट पर करीब साढ़े तीन करोड़ रुपए खर्च हाेते थे। जिससे सैकड़ों लाेगाें काे रोजगार भी मिलता था। लेकिन अब पाबंदी के बाद संकट बढ़ गया है।

अभिरुद्रा इवेंट एंड सेलिब्रेटी मैनेजमेंट के साहिल शर्मा ने बताया कि एक साल में शादियां, कॉर्पोरेट और स्कूल-काॅलेज के मिलाकर 50 इवेंट करता था। इन इवेंट में कैटरिंग स्टाफ, टेंट वाले, लाइट, बैंड बाजा, आर्टिस्ट, एंकर, डीजे साउंड, डांस आर्टिस्ट, सिंगर, फ्लाॅवर, फोटोग्राफर मिलाकर औसतन 100 लाेगाें काे रोजगार मिलता था। कोविड के बाद ये सब बंद हाे गया है। 2020 में कोविड की वजह से लॉकडाउन की घोषणा हुई ताे हमारे पास पूरे साल की 20 बुकिंग थी।

इससे हमें करीब एक करोड़ का व्यापार मिलता। लेकिन लॉकडाउन की घोषणा हाेते ही सब चौपट हाे गया। 2019 में ही 70 लाख के इवेंट किए थे। 2021 में लॉकडाउन खुलने के बाद फरवरी और मार्च में कुछ शादियां की। काेराेना की दूसरी लहर आते ही अप्रेल, मई, जून और जुलाई की जितनी भी बुकिंग थी उनमें से अधिकांश कैंसिल हाे चुकी हैं। कुछ ने कह दिया है कि अभी स्थिति देखेंगे। हालत ये है कि मार्च के इंवेंट करने के बाद अब हमारे पास एक इवेंट नहीं है।

ऐसा पिछले आठ साल में कभी नहीं हुआ

स्टाफ काे भी हटाना पड़ा है। सरकार ने मुद्रा लोन की जो घोषणा की है उसके लिए बैंक रुचि नहीं दिखा रहे। इसलिए हम कुछ नया नहीं कर सकते। सावा की एक तारीख पर भिवाड़ी और आसपास के क्षेत्र में 150 से 200 शादियों एक साथ हाेती हैं। शादियां उतनी ही हाे रही हैं लेकिन लाेग इवेंट, टेंट और बैंड पर खर्च नहीं कर पा रहे। शादियां दिन में हाे रही हैं इसलिए डेकाेरेशन, लाइटिंग, फ्लावर का कोई खर्चा नहीं कर रहे। हाेटल में समान्य रूप से शादियां हाे रही हैं।

खर्चा निकलना मुश्किल

शर्मा टेंट हाउस के प्रेमचंद शर्मा ने बताया कि काेराेना के बाद स्थिति खराब हाे चुकी हैं। लाेग बड़े आयोजन नहीं कर सकते। जिसका दो हजार का आयोजन था, वहां काम करने में डेढ़ लाख का खर्चा आता, अब वही आयोजन 50 आदमियों में हाे रहा है ताे उसका खर्च 20 हजार ही आएगा। शादियों की संख्या में कोई ज्यादा कमी नहीं है। लाेग 50 मेहमानों के साथ शादियां कर रहे हैं। 30 अप्रेल की बुकिंग थी उसका एक सिर्फ टेंट का काम एक लाख रुपए का हाेता। अब काेराेना की गाइडलाइन के अनुसार करना हाेगा। पार्टी भी असमंजस में फंसी हुई है। कभी कहती है शादी की तिथि आगे बढ़ाएंगे कभी कहती है अभी करेंगे। इस स्थिति में व्यापार ठप हाे गया है। ऑफिस का किराया भी घर से देना पड़ेगा। कुछ खर्चे स्थायी हाेते हैं, इनको निकालने के लिए काम करना पड़ता है, वरना इस स्थिति में काम करने का माहौल नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें