सड़क दुर्घटना में रोडवेज परिचालक की हुई मौत:मृतक अपने पिता की इकलौती संतान था, पिता की जगह पाई थी अनुकंपा नौकरी

भिवाड़ी3 दिन पहले

कोटकासिम थाना क्षेत्र के बीबीरानी कस्बे के पास सानोदा मोड़ पर अज्ञात वाहन की टक्कर से एक बाइक सवार की शुक्रवार देर शाम मौत हो गई, शनिवार दोपहर को परिजनों की उपस्थिति में मृतक का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

इधर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रानीयावास के रहने वाले अजीत सिंह पुत्र बलवीर सिंह जाट ने मामला दर्ज कराया है कि उसके चाचा का लड़का नरेंद्र (29) वर्ष पुत्र सुबे सिंह कल शाम 3:00 बजे के करीब घर से किशनगढ़ की तरफ किसी घरेलू काम से गया था। रास्ते में सानोदा मोड़ के पास किसी अज्ञात वाहन ने उसकी मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। जिससे वह गंभीर रूप से घायल होकर वहीं पर गिर पड़ा। सूचना मिलने के बाद परिजन मौके पर गए और घायल नरेंद्र को कोटकासिम अस्पताल में भर्ती कराया। इलाज के दौरान ही देर शाम नरेंद्र की मौत हो गई।

परिजनों की उपस्थिति में ही शनिवार दोपहर को मेडिकल बोर्ड की टीम से मृतक के शव का पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

इधर मृतक के परिजनों ने बताया की मृतक नरेंद्र अपनी पिता की इकलौती संतान था। वह राजस्थान रोडवेज में परिचालक के रूप में कार्य कर रहा था। इनके पिता भी रोडवेज में ही चालक का काम करते थे। कुछ दिन पूर्व ही उनकी मृत्यु हो गई थी। अपने पिता की जगह अनुकंपा नियुक्ति पर नरेंद्र राजस्थान रोडवेज के तिजारा डिपो में कार्यरत था और कुछ दिन पूर्व ही उसने नौकरी ज्वाॅइन की थी। मृतक नरेंद्र के दो बच्चे हैं एक लड़का 10 वर्ष का है। तो वहीं लड़की 8 वर्ष की है, मृतक की पत्नी ग्रहणी है मृतक के माता और पिता दोनों की ही पूर्व में मृत्यु हो चुकी है। अब मृतक नरेंद्र की पत्नी के समक्ष बच्चों के लालन-पालन की समस्या आ खड़ी हुई है।

खबरें और भी हैं...