• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • 4 Days Before The Collector, While Asking The Daughters For Their Father's Numbers, They Said That Whether They Come To Do Politics Or Study, Their Opposition Continues.

कलेक्टर के घर पर बेटियों के पिता के नंबर चिपकाए:4 दिन पहले बेटियों से उनके पिता के नंबर मांगने पर कलेक्टर का विरोध जारी

अलवर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्टर आवास पर चस्पा नंबर। - Dainik Bhaskar
कलेक्टर आवास पर चस्पा नंबर।

4 दिन पहले अलवर कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने विरोध जताने आई छात्राओं से उनके पिता के नंबर पूछे और कहा था कि राजनीति करने आती हो या पढ़ने। यह मामला पहले दिन ही तूल पकड़ गया। जिसका खूब विरोध हुआ है। मंगलवार को भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर के आवास पर कुछ मोबाइल नंबरों की सूची लगा दी। यह भी लिखा कि कलेक्टर महोदय ये नंबर उन बच्चियों के पिता के हैं, जो न्याय और सुरक्षा मांग रही हैं। मतलब कलेक्टर पर जुबानी हमला करने का सिलसिला बंद नहीं हुआ है। इस तरह विरोध करने वालों में भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष पं जले सिंह सहित कई युवा शामिल थे।

पिछले 3 दिनों से कलेक्टर आवास और कलेक्ट्रेट पर भी युवाओं ने विरोध प्रदर्शन किया है। एक तरफ पुलिस की नाकामी के खिलाफ विरोध जारी है। वहीं दूसरी तरफ कलेक्टर को इस बात के लिए घेरा जा रहा है कि नाबालिग के साथ हुई घटना के प्रति विरोध जताने पहुंची छात्राओं से कलेक्टर ने उनके पिता के नंबर मांगे। धमकी भरे लहजे में कहा कि पढ़ने आती हो या राजनीति करने। उसके बाद से मामला तूल पकड़ता गया। अब तक विरोध जारी है।

कलेक्टर आवास पर नंबर चस्पा करते युवा।
कलेक्टर आवास पर नंबर चस्पा करते युवा।

नाबालिग के साथ हुई घटना का खुलासा नहीं
असल में 11 जनवरी की रात को नाबालिग तिजारा फाटक पुलिया पर लहूलुहान हालत में मिली थी। उस समय एसपी तेजस्वनी गौतम ने सैक्सुअल असॉल्ट होना बताया था। लेकिन दो दिन बाद एसपी का बयान पलट गया था। एसपी ने कहा था कि मेडिकल रिपोर्ट व टेक्निकल टीम के अनुसार रेप की संभावना नहीं लगती है। हालांकि पुलिस का यह भी कहना है कि वे चौतरफा मामले की जांच में लगे हैं।

खबरें और भी हैं...