पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • After The Death Of A Young Engineer In Alwar City, His 3 year old Daughter And Family Members Sat On A Dharna From June 22.

पूर्व विधायक ने 51 हजार रुपए की सहायता दी:अलवर शहर में युवा इंजीनियर की मौत के बाद उनकी 3 साल की बेटी व परिवार के लोग 22 जून से धरने पर बैठे

अलवर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा ध� - Dainik Bhaskar
पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा ध�

अलवर शहर के शहीद स्मारक के सामने 22 जून से धरने पर बैठी 3 साल की बेटी उसकी मां और परिवार की आर्थिक सहायत करने के लिए पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा आगे आए हैं। उन्होंने राहुल शर्मा की बेटी की 51 हजार रुपए का चेक दिया है। असल में 22 मई को सरकारी सिस्टम की गलती से युवा इंजीनियर राहुल शर्मा की मौत हो गई थी। 22 जून से परिवार दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठा है।
22 जून से बेटी-मां धरने पर
अलवर शहर के युवा इंजीनिरयर राहुल शर्मा की सरकारी सिस्टम की लापरवाही के कारण 22 मई को मौत हो गई। परिवार न्याय के लिए शहीद स्मारक के सामने धरने पर बैठा है। सबने इस मौत को लापरवाही से की गई हत्या माना है। लेकिन, प्रशासन ने न दोषियों की रिपोर्ट जारी की है। न कोई कार्रवाई की है। इस कारण परिवार शहीद स्मारक के सामने धरने पर बैठा है।
22 मई को हुई थी मौत
इंजीनियर राहुल शर्मा की मौत 22 मई को हुई थी। वे कोरोना संक्रमित थे। उनका पहले सानिया हाॅस्पिटल में इलाज चला। वहां से जयपुर रैफर किया। जिला अस्पताल से एंबुलेंस ली, लेकिन एंबुलेंस में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं होने के कारण राहुल की जयपुर ले जाते समय दौसा के निकट ही मौत हो गई थी। सरकारी सिस्टम की बड़ी खामी रही कि एंबुलेंस में ऑक्सीजन की जांच नहीं की गई। एंबुलेंस में पर्याप्त ऑक्सीजन के अभाव में ही अलवर से जयपुर के लिए रवाना कर दिया। राहुल के पिता, भाई व परिवार के सब लोग उसके दोषियों को सजा देने की मांग करते आ रहे हैं।

अब बेटी के साथ मां भी धरने पर
बेटी व पत्नी का कहना है कि क्या उनको न्याय नहीं मिलेगा। सबका पता है सरकार सिस्टम की खामी ने उनके पति को मार दिया। हम उनके न्याय के लिए यहां बैठे हैं।
राहुल के पिता ने बताया कि कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया से मिल चुके हैं। फिर भी कार्रवाई नहीं हो सकी है।

खबरें और भी हैं...