• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • After The Disappearance Of The Children Of Banjara Basti In Khairthal, Alwar, The National Child Protection Commission Sent A Notice To The Collector And The SP, Seeking A Reply In 7 Days.

दादी की मौत के बाद 5 पौते-पौती गायब:अलवर के खैरथल में बंजारा बस्ती के बच्चे गायब होने के बाद राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने कलेक्टर व एसपी को नोटिस भेजा, 7 दिन में जवाब मांगा

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये अनाथ बच्चे गायब हुए। - Dainik Bhaskar
ये अनाथ बच्चे गायब हुए।

अलवर के खैरथल कस्बे के पास बंजारा बस्ती में झौपड़ी में रह रहे 5 बच्चे उसकी दादी के निधन के बाद अनाथ हो गए। दादी के दिन भी पूरे नहीं हुए। उससे पहले पांचों बच्चे गायब हो गए। पड़ौस में रह रहे चाचा-ताऊ को भी खबर नहीं है। 17 सितम्बर से घर से गायब बच्चों का मामला राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग तक भी पहुंच गया। इसके बाद आयोग ने जिला कलेक्टर व एसपी को नोटिस भेजकर सात दिन में बच्चों की रिपोर्ट मांगी है। तब पुलिस-प्रशासन के कान खड़े हुए हैं। अब तक बच्चों का पता नहीं लग सका है। इन बच्चों के पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। मां छोड़कर जा चुकी है। कुछ दिन पहले दादी भी चल सबी। उसके बाद से बच्चे अनाथ थे।

तब मालूम चला बच्चे गायब हो गए
अलवर चाइल्ड लाइन , राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं भ्रष्टाचार निवारण महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष उनके घर पहुंची तब उन्हें मालूम चला कि बच्चे तो गत 17 सितम्बर से लापता हैं। इसके बाद स्थानीय पुलिस को सूचना दी गई। बच्चों के पड़ोस में रहने वाली संतरा पत्नी राम सिंह ने लिखित में बच्चों की गुमशुदगी की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे हेड कांस्टेबल रामअवतार गुर्जर ने बताया कि बच्चों के ताऊ से बात की तो बताया कि इन पांच भाई बहनों में बड़ा ही बड़ा लड़का सही नहीं है। वह किसी भी बात नहीं मानता है। लगता है वह अपने साथ ही बच्चों को कहीं ले गया। हमनें अपने सभी परिचितों को सूचना दी है।

बंजारा बस्ती में अनाथ हुए बच्चों की झौपड़ी पर जांच करती टीम।
बंजारा बस्ती में अनाथ हुए बच्चों की झौपड़ी पर जांच करती टीम।

पड़ौसी बोले हम भी पता लगा रहे
हेड कांस्टेबल रामअवतार गुर्जर व कांस्टेबल भीम सिंह ने बस्ती वालों से मालूम किया तो बस्ती वालों ने बताया कि हमें इसकी जानकारी नहीं है। हम भी बच्चों का पता लगाने का प्रयास करने में लगे हैं। एक दिन पहले ही सहायक निदेशक बाल अधिकारिकता विभाग, सरंक्षण अधिकारी जिला बाल सरंक्षण ईकाई,सदस्य बाल कल्याण समिति अलवर , समन्वयक चाइल्ड लाइन अलवर खैरथल पहुंचे थे। बच्चों से बात कर जानकारी जुटाई थी ।बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए उनके ताऊ महेंद्र व शेर सिंह को सरकारी योजनाओं के बारे में बताया था।

बड़ा भाई लेकर चला गया
आसपास के लोगों से पता चल रहा है कि बड़ा भाई अपने चार अन्य छोटो भाई बहन को साथ लेकर चला गया है। उसका पता लगाया जा रहा है। तभी आगे की जानकारी मिल सकेगी। बाल अधिकारी संरक्षण आयोग का नोटिस आने के बाद पुलिस भी खंगालने में लगी है। असल में सात दिन में पुलिस प्रशासन को आयोग को जवाब देना है।

खबरें और भी हैं...