पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Alwar City School Sanjay Sharma Said If He Had To Go To Jail In The Disaster, The Hospitals In The District Were Not Getting Oxygen, The People Dying

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सांसों का सवाल है साहब:ऑक्सीजन की कमी से परेशान लोगों के लिए विधायक ने कलेक्टर चेंबर में धरना दिया, कहा- भटक रहे हैं मरीज, कोई भर्ती करने को तैयार नहीं

अलवर10 दिन पहले
कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया के चेंबर में धरने पर बैठे बीजेपी जिलाध्यक्ष संजय नरूका, विधायक संजय शर्मा व अन्य।

कोरोनाकाल ने जनप्रतिनिधियों को भी सबक दिया है। ऑक्सीजन और बेड के लिए हाहाकार मचा तो पब्लिक ने नेताओं को घेरना शुरू किया। बार-बार जनता ने अलवर के शहर विधायक संजय शर्मा से सुविधाओं के बारे में शिकायत की, दुखड़ा रोया तो उनसे रहा नहीं गया। सोमवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे 4 भाजपाइयों के साथ वह कलेक्टर दरबार में आ धमके। अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी का हवाला देते हुए कलेक्टर के सामने जमीन पर बैठ गए। उनके साथ भाजपा नेता भी धरने पर जमे हुए हैं। कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने हर संभव प्रयास का भरोसा दिया। पर विधायक जी सुनने को तैयार नहीं थे। उन्होंने साफ कह दिया- ऑक्सीजन की कमी पूरी होनी चाहिए। नहीं तो वह यहां से नहीं हिलेंगे। इसके लिए चाहे उन्हें जेल क्यों न जाना पड़े। कुछ ही देर बाद कलेक्टर अपने चेंबर से निकल गए। विधायक संजय शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नरूका, दिनेश गुप्ता, जितेन्द्र राठौड़, प्रमोद विजय कलेक्टर के चेंबर में धरना दे रहे हैं।

मेरे घर परेशान लोग आ रहे

विधायक ने कहा- जिले के अस्पतालों को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल रही है। मेरे घर पर लोग आते हैं कि अस्पताल में भर्ती नहीं कर रहे। अस्पताल वाले कहते हैं, ऑक्सीजन नहीं मिल रही। प्रशासन अलवर से ऑक्सीजन दूसरे जिलों में भेज रहा है। कांग्रेस सरकार के श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली के कहने पर मरीजों को भर्ती किया जाता है। यह बर्दाश्त नहीं कर सकते। आपदा में जेल जाना पड़ा तो जाऊंगा। विधायक ने कहा कि जब तक समस्या का समाधान नहीं होगा। यहां से नहीं हटेंगे। हालांकि कलेक्टर ने कहा कि सब अस्पतालों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। जहां-जितनी ऑक्सीजन की जरूरत हो सकती है वहां भिजवा भी रहे हैं। लेकिन, विधायक उनकी बात से कतई समहत नहीं हुए।

ऑक्सीजन की कमी

विधायक के धरने पर बैठने से पहले सानिया हॉस्पिटल में मरीजों को भर्ती करना बंद कर दिया गया। अस्पताल के प्रबंधन ने बकायदा नोटिस लगा दिया है कि उनके यहां ऑक्सीजन निरंतर कम होती गई है। जिला प्रशासन के जरिए ऑक्सीजन पूरी नहीं मिल रही है। ऐसी स्थिति में मरीजों को भर्ती नहीं कर सकते। अस्पताल में कई मरीज भी मिले, जिनको भर्ती होना था। लेकिन, नहीं किया गया। इसके बाद वे मरीज वहां से दूसरे अस्पतालों की ओर निकले। असलियत यह है कि मरीजों को कहीं भी वेंटिलेटर नहीं मिल पा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें