वैक्सीन के 39 हजार डोज लग रहे:​​​​​​​अलवर जिले को आज जयपुर से 20 हजार डोज और मिल सकते हैं, फिलहाल दूसरे डोज वालों को वरीयता

अलवर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैक्सीन लगवाने वालों की लाइन। - Dainik Bhaskar
वैक्सीन लगवाने वालों की लाइन।

अलवर जिले को गुरुवार को 20 हजार नए डोज मिल सकते हैं। एक दिन पहले ही 39 हजार डोज मिले हैं। इस कारण गुरुवार को जिले भर में वैक्सीन लगाई जा रही है। फिलहाल दूसरी डोज का इंतजार कर रहे लोगों को वैक्सीन लगाने में वरीयता दी गई है। ताकि उनको दूसरा डोज लग सके। असल में अलवर जिले में दूसरे डोज के इंतजार में करीब सवा लाख लोग हैं। हर दिन यह संख्या बढ़ जाती है। जैसे ही नए डोज लगते हैं। तब यह आंकड़ा कुछ कम होता है। लेकिन फिर अगले दो दिन वैक्सीन नहीं मिलने पर संख्या बढ़ जाती है।

अलवर शहर में ये स्पॉट
जिला अस्पताल, काला कुआं सामुदायिक भवन, अखैपुरा, एनईबी, शिवाजीपार्क, मूंगस्का व पहाड़गंज में वैक्सीन लगना चालू हैं। यहां दोपहर करीब 3 बजे तक वैक्सीन लगेगी। इसके बाद भी वैक्सीन बची तो शेष रहे लोगों को लगाई जा सकती हैं।

ऑन स्पॉर्ट वैक्सीन लग रही
आरसीएचओ डॉ अरविंद गेट ने बताया कि गुरुवार को अधिकतर केंद्रों पर ऑन स्पॉर्ट वैक्सीन लगाई जा रही है। ताकि बुजुर्ग लोगों को परेशानी नहीं हो। असल में करीब एक से सवा लाख लोग ऐसे हैं जिनको दूसरा डोज लगाने का समय पूरा हो चुका है। इस कारण उनको अधिक वरीयता दी गई है। किसी सेंटर पर दूसरे डोज के कम लोग पहुंचते हैं तो पहला डोज भी लगाया जा सकेगा।

विदेश जाने वालों को पहले लगा रहे
सभी सेंटरों पर विदेश जाने वाले लोगों को 84 दिन से पहले भी वैक्सीन का दूसरा डोज लगाने में वरीयता दी गई है। ऐसे लोग जो विदेशों में पढ़ाई या नौकरी करते हैं। वे आवश्यक दस्तावेज दिखाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

14 लाख को पहला डोज नहीं लगा

इस समय जिले में वैक्सीन नहीं हैं। जिसके कारण डोज नहीं लग पा रहे। अकेले अलवर जिले में 1 लाख 15 हजार लोगों को दूसरा और करीब 14 लाख लोगों को पहले डोज का इंतजार है। असल में जिले में 26 लाख लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है। अब तक पहला डोज 12 लाख 72 हजार लोगों को लगा है। जबकि देानों डोज 3 लाख 60 हजार लोगों को लगे हैं। शेष लोग वैक्सीन आने के इंतजार में हैं।

कोविशील्ड के 1 लाख डोज की जरूरत
अलवर जिले में कोविशील्ड के 1 लाख डोज की जरूरत है। इतने लोग तो दूसरे डोज के इंतजार हैं। जिनको कोविशील्ड का पहला डोज लगवाए 84 दिन पूरे हो चुके हैं। आगे तीसरी लहर का भी डर है। वहीं लोग गाइडलाइन का पालन भी पहले से कम करने लगे हैं। जो चिंता का विषय है।

खबरें और भी हैं...