पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑक्सीजन प्लांट को भी सांसों की जरूरत:अलवर जिला अस्पताल में मरीजों का दबाव बढ़ा तो ऑक्सीजन की शुद्धता का स्तर 90 से गिरकर 73 तक पहुंचा, किया दुरुस्त

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये देखिए शुद्धता बता रहा 73.50, जबकि यह पैमाना 90 होना चाहिए। - Dainik Bhaskar
ये देखिए शुद्धता बता रहा 73.50, जबकि यह पैमाना 90 होना चाहिए।

जिला अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट पर भी सांसों का इतना दबाव पड़ गया कि खुद की सांसें कमजोर पड़ने लगी हैं। इसके कारण जिला अस्पताल में लगे 500 एलपीएम प्लांट से बन रही ऑक्सीजन की शुद्धता 90 से नीचे गिरकर 73 तक पहुंच गई है। इससे मरीजों की मुश्किल बढ़ी है। हालांकि जिला अस्पताल प्रशासन का दावा है कि कुछ समय के लिए प्लांट की ऑक्सीजन की शुद्धता तय पैमाने से नीचे रही थी, जिसे बाद में ठीक कर दिया गया। असलियत यह है कि कई दिनों से प्लांट में ऑक्सीजन की शुद्धता काफी नीचे चल रही है। जिससे मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ी हैं।

शुद्धता कम तो ऑक्सीजन व वेंटिलेटर वाले मरीजों को परेशानी
ऑक्सीजन की शुद्धता 90 से कम होने पर वेंटिलेटर व ऑक्सीजन बेड वाले मरीजों की रिकवरी में दिक्कत आती है। डॉक्टरों का ही मानना है कि ऑक्सीजन की शुद्धता कम होने से वेंटिलेटर वाले मरीजों की रिवकरी में बहुत दिक्कत आती है। ऑक्सीजन बेड वाले मरीजों को भी ठीक होने में अधिक समय लगता है।

जिला अस्पताल में इस तरह सिलेण्डर लगाने पड़ रहे।
जिला अस्पताल में इस तरह सिलेण्डर लगाने पड़ रहे।

मतलब बाहर की ऑक्सीजन पहुंच रही
प्लांट की ऑक्सीजन की शुद्धता कम होने का मतलब बाहर की सीधी ऑक्सीजन भी पहुंच रही है। जिससे मरीज को परेशानी हो सकती है। हालांकि जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ सुनील चौहान का कहना है कि कुछ समय के लिए दिक्कत आई थी। बाद में इंजीनियरिंग की टीम ने प्लांट को दुरुस्त कर दिया। मतलब वापस ऑक्सीजन की शुद्धता 90 के आसपास पहुंच चुकी है।

बाहर से सिलेण्डर लगाने पड़ रहे
जिला अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट में बाहर से सिलेण्डर लगाने पड़ रहे हैं। असल में यहां 180 से अधिक मरीज तो ऑक्सीजन बेड पर हैं। वेंटिलेटर बेड भी फुल हैं। इस कारण प्लांट की क्षमता से अधिक ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। इस कारण बाहर से सिलेण्डर मंगाकर भी ऑक्सीजन की पूर्ति करनी पड़ती है। वैसे भी लगातार मरीजों का दबाव बढ़ा है।
दूसरा प्लांट अभी चालू नहीं
जिला अस्पताल में 600 एलपीएम ऑक्सीजन प्लांट अभी चालू नहीं हो सका है। जिसे चालू करने के लिए टीम लगी हुई हैं। अभी इस प्लांट की ऑक्सीजन के नमूने की जांच होना बाकी है। इसके बाद प्लांट को चालू किया जाएगा। दूसरे प्लांट से ऑक्सीजन मिलने के बाद जिला अस्पताल को ऑक्सीजन की आपूर्ति आसान हो सकेगी।