• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Alwar's Scheme Found Free Oxygen From Two Gurdwaras, Then We Received A Call From Faridabad, 150 Km Away, Please Give A Cylinder

ऑक्सीजन के लिए बेबसी की 2 कहानियां:गुरुद्वारे में ऑक्सीजन मिलने का पता चला तो 150 किमी दूर फरीदाबाद से फोन आया- प्लीज हमें एक सिलेंडर दे दीजिएगा, हम यहां से चल दिए हैं

अलवर7 महीने पहले
अलवर के एक गुरुद्वारे के बाहर रखे हए ऑक्सीजन सिलेंडर। यहां से मरीजों को निशुल्क ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है।

कोरोना महामारी में बेबसी और लाचारी का आलम है। जिन घरों में मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत है उनसे ज्यादा कोई बेबस और परेशान नहीं है। ऑक्सीजन के लिए मारामारी इस कदर है कि लोग 100-200 किमी. दूर तक से ऑक्सीजन का इंतजाम करने में लगे हुए हैं। अलवर के एक गुरुद्वारे से सुबह सूचना मिली कि यहां नि:शुल्क ऑक्सीजन मिलने लगी है।

यह जानकारी फ्लैश होने के चंद मिनट बाद ही गुरुद्वारा प्रमुख हरमीत सिंह मेहंदीरत्ता के मोबाइल पर घंटी घनघनाने लगी। कोई गुड़गांव से कोई फरीदाबाद से तो कोई पलवल से फोन कर रहा है। सबकी एक ही बात कि हमारे मरीज की ऑक्सीजन लेवल बहुत कम हो गया है। अगर ऑक्सीजन नहीं मिली तो मुश्किल हो जाएगी। प्लीज...हमें हर हाल में एक सिलेंडर चाहिए। नहीं तो हमारा मरीज बच नहीं पाएगा।

पढ़िए...मजबूरी और बेबसी की कहानियां:

फरीदाबाद से सोनू ने कहा- हमारे यहां लाइन लंबी है पता नहीं मिल पाए या नहीं
सुबह के करीब सवा 11 बजे गुरुद्वारा कमेटी के प्रमुख हरमीत सिंह मेहंदीरत्ता के फोन की घंटी बजती है। कॉल करने वाला कहता है मैं सोनू हरियाणा के फरीदाबाद से बोल रहा हूं। हमें हर हाल में ऑक्सीजन का सिलेंडर चाहिए। हमारे मरीज की ऑक्सीजन काफी नीचे जा रही है। हमारे पास खाली सिलेंडर हैं। प्लीज...दे दीजिए। जवाब में मेहंदीरत्ता ने कहा- हां, आप अलवर के गुरुद्वारा स्कीम-2 आ जाइए। चाहे रात के 12 बजे आएं। आपको सिलेंडर मिल जाएगा। इतना सुनने के बाद सोनू ने कहा- ठीक है। हम यहां से निकल रहे हैं।

पलवल से फोन आया, बोले- अस्पताल में बेड नहीं, बाहर ऑक्सीजन नहीं
फिर हरियाणा के ही पलवल से 52 साल की महिला रमा वर्मा के परिजन ने कहा हमारा मरीज घर पर है। उसे ऑक्सीजन की बेहद आवश्यकता है। हमें पलवल में दो दिन से ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है। अस्पताल में तो बेड नहीं हैं। आप हमें ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा दो। मेहंदीरत्ता ने कहा कि आप सिलेंडर लेकर आ जाएं और ऑक्सीजन लेकर जा सकते हैं।

गुरुद्वारा कमेटी प्रमुख हरमीत सिंह फोन पर फरीदाबाद से आए कॉल पर बात करते हुए।
गुरुद्वारा कमेटी प्रमुख हरमीत सिंह फोन पर फरीदाबाद से आए कॉल पर बात करते हुए।

ऑक्सीजन के लिए 150 किमी दूर से आने को तैयार परिजन
स्कीम दो गुरुद्वारे में बुधवार सुबह 10 बजे से ही नि:शुल्क ऑक्सीजन व्यवस्था शुरू की गई है। इसके एक घण्टे बाद से ही गुरुद्वारा कमेटी के प्रतिनिधियों के पास फरीदाबाद, पलवल, दिल्ली व गुड़गांव से फोन आने शुरू हो गए। मरीजों के परिजन 150 किमी दूर से अलवर आने को तैयार हैं। इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि ऑक्सीजन के लिए कितनी मारामारी है।

गुरुद्वारे के पास अभी 50 सिलेंडर
मेहंदीरत्ता ने कहा कि एडीएम रामचरण शर्मा व एमआईए स्थित सिनर्जी स्टील फैक्ट्री के प्रयासों से नि:शुल्क ऑक्सीजन सिलेण्डर दिए जाने का इंतजाम हो सका है। हम धीरे-धीरे खाली सिलेण्डर बढ़ा रहे हैं। अभी हमारे पास केवल 50 सिलेंडर की व्यवस्था हो सकी है। हमारे लोग इस काम में लग गए हैं।

ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए आधार कार्ड व मरीज की पर्ची लेकर आनी होगी। खाली सिलेंडर लाने वालों को हाथोंहाथ सिलेंडर भरकर देते हैं।

खबरें और भी हैं...