ऑक्सीजन की किल्लत:ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करते एंबुलेंस चालक को किया गिरफ्तार

अलवर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अलवर. जब्त की एम्बुलेंस। - Dainik Bhaskar
अलवर. जब्त की एम्बुलेंस।

काेतवाली थाना पुलिस ने बुधवार दोपहर 12 बजे सामान्य अस्पताल के बाहर एक मरीज के परिजनों से एम्बुलेंस के निर्धारित किराए से अधिक रुपए वसूलने व ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी के आराेप में एम्बुलेंस चालक 25 वर्षीय गोविंद उर्फ संजय जांगिड़ काे गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने इससे ऑक्सीजन के 4 सिलेंडर बरामद किए हैं। इनमें से एक सिलेंडर में ऑक्सीजन गैस भरी थी। तीन सिलेंडर खाली थे। थानाधिकारी राजेश शर्मा ने बताया कि सहायक औषधि नियंत्रक कार्यालय की ओर से एम्बुलेंसों में प्रयुक्त ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी व प्राइवेट एम्बुलेंस संचालकों की ओर से निर्धारित दराें से अधिक किराया वसूलने की शिकायत मिली थी।

इसके बाद एएसआई अजय शर्मा, औषधि नियंत्रक अधिकारी राजेश कटारा सहित जितेंद्र मीणा व कुलदीप चंद्रावत के नेतृत्व में टीम गठित की। इस टीम ने खुफिया ताैर पर जांच की। साथ ही कांस्टेबल मुकेश कुमार काे बाेगस ग्राहक बनाकर एम्बुलेंस चालक के पास भेजा।

एम्बुलेंस चालक ने ऑक्सीजन लगी एम्बुलेंस से मरीज काे चिकानी स्थित लाॅर्ड्स हॉस्पिटल से हरीश हॉस्पिटल तक छाेड़ने के लिए 2500 रुपए मांगे। चालक से रेट पूछा ताे उसने कहा कि कल जाे 2500 रुपए मरीज काे छुड़वाने के लिए दी थी, वहीं आप भी देना।

पहले 10 किमी तक ‌500 से ज्यादा नहीं ले सकते

थानाधिकारी ने बताया कि जिला परिवहन अधिकारी द्वारा ऑक्सीजन एम्बुलेंस की दर पहले दस किलाेमीटर तक 500 रुपए निर्धारित है और दस किलाेमीटर के बाद वाहन के प्रकार के हिसाब से किराया निर्धारित है। जांच में पता चला कि एम्बुलेंस चालक सरकारी अस्पताल के सामने खड़ा रहता है।

उसके द्वारा ऑक्सीजन की कालाबाजारी व निर्धारित दर से अधिक किराया वसूलने की पुष्टि हुई है। थानाधिकारी ने बताया कि आराेपी एम्बुलेंस चालक गोविंद उर्फ संजय पुत्र कैलाश चंद जांगिड़ निवासी ब्रह्मचारी मोहल्ला अलवर काे जिला प्रशासन के आदेशों का उल्लंघन करने तथा राष्ट्रीय आपदा काेविड-19 महामारी के दाैरान जरूरतमंद मरीजों के परिजनों से निर्धारित दर से अधिक एम्बुलेंस का किराया मांगने के आराेप में गिरफ्तार किया है।

औषधि नियंत्रण अधिकारी ने एम्बुलेंस चालक के खिलाफ इस संबंध में मामला दर्ज कराया है। थानाधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में इस मामले में कंपनीबाग के पास रहने वाले एम्बुलेंस मालिक विजय सैनी की संदिग्ध भूमिका सामने आई है। पुलिस एम्बुलेंस मालिक से भी इस संबंध में पूछताछ करेगी।

खबरें और भी हैं...