पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • At Night, The Society's People Surrounded The Developer's House, The Women Said That They Were Forced To Drink Sewerage Water.

सबसे बड़ी सोसायटी में रात को हंगामा:रात काे साेसायटी के लाेगाें ने डवलपर के घर का घेराव किया, महिलाओं ने कहा सीवरेज का पानी पीने को मजबूर

अलवर7 दिन पहले
अपनाघर शालीमार में विरोध प्रदर्शन करते लोग।

अलवर शहर में चिकानी रोड स्थित सबसे बड़ी आवासीय सोसायटी अपना घर शालीमार में पेयजल संकट इतना गहरा चुका है कि मंगलवार रात को लोग घरों से बाहर आ गए। डेवलपर्स के घर का घेराव किया। बहुतों ने उनको खरी खोटी सुनाते हुए कहा कि जब पानी का इंतजाम नहीं है तो बड़ी संख्या में फ्लैट बनाने का मकसद क्या है। आगे दूसरे लोगों को परेशानी होनी है। डवलपर अशोक सैनी ने कहा कि कुछ घंटे के लिए परेशानी हुई है। बीच में मोटर खराब हो गई थी। उसे ठीक करा दिया है।

महिलाएं बोली सीवरेज का पानी पीने को मजबूर
सोसायटी की महिलाओं ने कहा कि पानी की समस्या 2 साल से हैं। बीच-बीच में गंदा पानी आता है। पता लगा कि सीवरेज का पानी भी नलों में पहुंच जाता है। जिसे पीने के बाद परिवार के लोग बीमार हो गए। उसके बाद से हम पानी को गर्म करके पीने लगे हैं।

डवलपर के घर का घेराव कर उसके सामने आक्रोश जताते लोग।
डवलपर के घर का घेराव कर उसके सामने आक्रोश जताते लोग।

कुछ ने कहा मेंटिनेंस वसूल रहे
कॉलोनी के रविंद्र कुमार ने कहा कि मेंटिनेंस पूरा वसूल रहे हैं। पानी की सुविधा नहीं है। आए दिन टूंटी में पानी नहीं आता। शिकायत करने के बाद भी कोई असर नहीं होता है। बहुत बार तो फ्लैश करने के लिए भी पानी नहीं होता है। वर्किंग पर जाने के बाद वापस लौटते हैं तो पानी नहीं मिलता है। ऐसे में बड़ी परेशानी होती है।

फिर भी हजारों फ्लैट बना रहे
यहां डवलपर का घेराव करते हुए लोगों ने कहा कि हजारों फ्लैट बनाने में लगे हो। लेकिन पानी का इंतजाम नहीं है। आगे दूसरे लोग आएं तो उनको यही समस्या होगी। हालांकि डवलपर ने कहा कि केवल चार घंटे यह समस्या आई है। वैसे पूरे शहर में पानी का संकट है। फिर भी हमारे यहां पर्याप्त इंतजाम हैं। पानी की समस्या होती तो भीषण गर्मी के दिनों में लोगों को परेशान क्यों नहीं हुई। हाल में मोटर खराब होने से थोड़ी दिक्कत आई थी। उसे भी ठीक करा दिया है।

खबरें और भी हैं...