• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Behror MLA Surrounded MP Balaknath In The Bribery Case In The Name Of Recruitment In Medical College, Said Even The People Of His Own Village Were Not Spared

मेडिकल कॉलेज में भर्ती के नाम पर रिश्वत मामला:बहरोड MLA ने अलवर MP पर लगाए आरोप, बोले- इसमें चर्चा में आया पीए सांसद का सगा फूफा, उन्होंने अपने लोगों को भी नहीं छोड़ा

अलवर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बहरोड़ विधायक बलजीत यादव। - Dainik Bhaskar
बहरोड़ विधायक बलजीत यादव।

ACB ने अलवर के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में कॉन्ट्रैक्ट पर नर्सिंगकर्मी व नर्सिंग सहायक की भर्ती में रिश्वत लेने का मामला उजागर किया। एसीबी ने चार लोगों को गिरफ्तार किया और मोटी रकम जब्त की। इस मामले में सांसद बाबा बालकनाथ के पीए कुलदीप यादव का नाम आने के बाद बहरोड़ विधायक बलजीत यादव ने सांसद को जमकर घेरा है।

विधायक बलजीत ने सांसद बालकनाथ पर सीधे आरोप लगाए कि 500 करोड़ से अधिक का मठाधीश बाबा खुद के गांव कोराणा से भी भर्ती के नाम पर अभ्यर्थियों से वसूली में लगा था। यह पीए कुलदीप सांसद का सगा फूफा है। जिसने ही बालकनाथ को मस्तनाथ आश्रम की गद्दी पर बैठाया है। विधायक का कहना है कि सांसद चाहे कुम्भ में स्नान करने जाएं या कहीं खास जगह। पीए बताए जाने वाले कुलदीप की उनके बाजू में ही कुर्सी लगती थी। विधायक बलजीत ने सांसद व उसके पीए के कुम्भ में नहाते व दूसरी जगह के कार्यक्रम के फोटो भी दिखाए।

सांसद बालकनाथ पर अवैध वसूली के आरोप

विधायक बलजीत ने अलवर में पत्रकारों से कहा कि मेडिकल कॉलेज में कांट्रैक्ट आधारित भर्ती में सांसद बालकनाथ व उसके दलालों ने अवैध वसूली की है। जिसका एसीबी ने जिक्र भी किया है। यह शर्मनाक बात है। यह साधु के नाम पर कलंक है। भगवा वस्त्र पहनने वाले अरबों रुपए की सम्पति के मालिक बाबा ने उन्हीं लोगों से रिश्वत ली है जिन्होंन उन्हें सांसद बनाया। खून पसीना बहाकर प्रचार किया। प्रचण्ड बहुमत से संसद में भेजा। बेरोजगारों को उम्मीद थी कि जिसे वे जिताकर संसद में भेज रहे हैं, वे वहां उनकी आवाज उठाएंगे, लेकिन हुआ उल्टा। बाबा ने उनको ही लूटना शुरू कर दिया। बाबा का इस आपदा में ही अवसर का यह घिनौना तरीका ही समझ आया क्या?

आरोप- दो वकील भी वसूली में शामिल

आपदा में ईएसआईसी हाॅस्पिटल में नर्सिंगकर्मी व नर्सिंग सहायक की संविदा की भर्ती में बड़ी संख्या में लोगों से पैसे लिए गए हैं। बहरोड़ में दो वकीलों ने भी भर्ती के नाम से वसूली की है। विधायक ने इतना भी कहा कि सांसद के पास नौकरी के लिए गए युवाओं को पीए कुलदीप के पास भेजा गया। वहां उनसे पैसे मांगे गए। सांसद के खुद के गांव के एक भी युवा को नौकरी नहीं दी। उल्टा उगाही शुरू कर दी। यह तो बीच में एसीबी ने छापा मार दिया। इसलिए परतें खुल गईं।

ये विधायक के आरोप, एसीबी ने पुष्टि नहीं की

ये विधायक बलजीत के सांसद बालकनाथ व उसके पीए कुलदीप पर आरोप हैं। एसीबी ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है कि सांसद के पीए ने संविदा भर्ती के नाम पर पैसे लिए हैं। न अभी तक पीए को गिरफ्तार किया गया है। सांसद बालकनाथ ने कहा कि मैंने केवल अभ्यर्थियों के नाम भिजवाए थे। किसी तरह के पैसे का सवाल नहीं है। मेरी तरह कई अन्य नेताओं ने भी अभ्यर्थियों की सूची भेजी है।

खबरें और भी हैं...