पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • BJP District President Had Given This Statement In The Organization Meeting Two Days Ago, Now The Leaders Of His Own Party Are Getting Overwhelmed, Congress Leaders Are Not Interested In It

चमचागिरी वालों को टिकट, मौके पर खूब ताली:भाजपा जिलाध्यक्ष ने संगठन की बैठक में दो दिन पहले दिया था यह बयान, अब उनकी ही पार्टी के नेता भारी पड़ रहे, कांग्रेस नेताओं की इसमें दिलचस्पी नहीं

अलवर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मण्डल की बैठक में जिलाध्यक्ष संजय नरूका व अन्य पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
मण्डल की बैठक में जिलाध्यक्ष संजय नरूका व अन्य पदाधिकारी।

भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नरूका ने अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के अकबरपुर उमैरण मण्डल की बैठक में दिए गए बयान पर मौके पर तो खूब तालियां बजी। लेकिन अब पार्टी के नेता ही जिलाध्यक्ष को घेर रहे हैं। जिलाध्यक्ष ने मण्डल की बैठक में कह दिया था कि टिकट तो आप जानते हो किसको मिलती है। गणेश परिक्रमा और चमचागिरी करने वाले टिकट ले आते हैं। कौन पूछ रहा है मण्डल अध्यक्ष से। मण्डल अध्यक्ष का काम आंदोलन करना व धरने प्रदर्शन करने का है। इस बात की मैं भी हामी नहीं भरता की टिकट दिला दूंगा। यहां तो टिकट बाबा देगा या रामकिशन। बाबा अलवर के सांसद हैं। वहीं रामकिशन अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी रह चुके हैं। इस बयान पर भाजपा के नेता ही उनको घेर रहे हैं। राजगढ़ में भी जिलाध्यक्ष नरूका ने कहा था कि पार्टी में सब अपने फायदे के लिए आते हैं।

इसके बाद पार्टी के नेता सोशल मीडिया पर प्रचार कर रहे
जिलाध्यक्ष संजय नरूका के वीडियो को उनकी ही पार्टी के नेता प्रचारित करने में लगे हैं। बकायदा शीर्ष नेतृत्व से जिलाध्यक्ष को हटाने कीम मांग कर चुके हैं। हालांकि शीर्ष नेतृत्व ने अभी तक कोई निर्णय नहीं किया है। प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया का यही बयान आया है कि उन्होंने वीडियो नहीं सुना है।

बयान के वक्त ताली बजाने वाले खूब
अकबरपुर-उमरैण की बैठक में जिलाध्यक्ष के इस बयान के दौरान वहां मौजूद पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने ही ताली बजाकर उनकी बात का समर्थन किया था। लेकिन अब पार्टी के कुछ नेता ओं ने जिलाध्यक्ष को घेरना शुरू कर दिया है। पार्षद धीरज जैन व पूर्व पार्षद राजेश तिवाड़ी ने कहा कि इससे पार्टी की छवि खराब हुई है। जिलाध्यक्ष को पद से हटाना चाहिए।

श्रम मंत्री का क्षेत्र, लेकिन रुचि नहीं
दूसरी और कांग्रेस के नेताओं ने इस मामले में भाजपा के नेताओं पर किसी तरह का पलटवार नहीं किया है। जबकि जिस जगह पर जिलाध्यक्ष ने यह बयान दिया वह श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली का अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र है। मतलब भाजपा के नेताओं के इस बयान से कांग्रेस के नेताओं की ज्यादा रुचि सामने नहीं आ रही है।

अब आगे चुनाव भी
असल में अलवर में पंचायतराज के चुनाव जल्दी होने हैं। उससे पहले जिलाध्यक्ष का यह बयान महत्व भी रखता है। पार्टी में चमचागिरी व गणेश परिक्रमा वाले टिकट ले जाते हैं। इससे मेहनती कार्यकर्ता व पदाधिकारियों के मनोबल पर फर्क पड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...