• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • BJP's Presidential Candidate Said That If The Congress President Is Caught In Corruption, Then The Deputy Chairman Will Not Be Tolerated Forcibly.

उप सभापति को सस्पेंड करने का विरोध:भाजपा के सभापति प्रत्याशी ने कहा- कांग्रेस की सभापति भ्रष्टाचार में फंसी तो उप सभापति पर जबरन गाज बर्दाश्त नहीं होगी

अलवरएक महीने पहले
उप सभापति घनश्याम गुर्जर सस्पेंड।

अलवर में कांग्रेस नेता व नगर परिषद सभापति बीना गुप्ता के साथ उप सभापति घनश्याम गुर्जर को हटाने का विरोध शुरू हो गया है। सभापति चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी रहे धीरज जैन ने कहा कि सरकार ने जानबूझकर उप सभापति को सस्पेंड किया है। कांग्रेस की सभापति भ्रष्टाचार में फंसी। उसे हटाना सरकार की मजबूरी थी। जब सभापति हटाया जाता है तो नियम है कि उप सभापति को चार्ज दिया जाता है। लेकिन अलवर नगर परिषद में उप सभापति भाजपा के हैं। इस कारण सरकार ने उप सभापति को मनमर्जी से सस्पेंड किया है। इस मामले का विरोध पार्टी के स्तर से किया जाएगा।

उप सभापति ने कहा लोकतंत्र के खिलाफ सरकार
उप सभापति घनश्याम गुर्जर का कहना है कि सरकार का उप सभापति को सस्पेंड करना लोकतंत्र के खिलाफ है। मैंने पार्षद का चुनाव लड़ा। तब नामांकन की जांच हुई। इसके बाद उप सभापति का चुनाव लड़ा। तब भी नामांकन की जांच हुई। इसके बाद यह आपत्ति लगाई गई कि नामांकन में आवश्यक तथ्य छुपाए गए हैं। यह शिकायत तो पहले से थी। अब सभापति के भ्रष्टाचार में फंसने के कारण उसे जबर्दस्ती सस्पेंडकर दिया। इसके पीछे सरकार की मंशा गलत है। सरकार ने लोकतंत्र की हत्या कर यह आदेश जारी किया है। जिसे कोर्ट में चुनौती दी जाएगी।

पार्टी में भी विरोध
उप सभापति को हटाने का पार्टी में भी विरोध शुरू हो गया है। पार्टी के जिलाध्यक्ष सहित अन्य नेताओं का कहना है कि कांग्रेस की कथनी व करनी में अंतर है। जो भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या करने के आरोप लगाती है। वह खुद ही ऐसा करने में लगी है। जिसका ताजा उदाहरण अलवर नगर परिषद है। यहां उप सभापति घनश्याम गुर्जर को गलत सस्पेंड किया गया है।

अब नए चेहरों पर नजर

भाजपा में सरकार के निलंबन का विरोध है। वहीं कांग्रेस में सभापति व उप सभापति की कुर्सी हथियाने का जबर्दस्त जोड़तोड़ चल रहा है। पार्षद आला नेताओं के संपर्क में हैं। अभी तक कांग्रेस के किसी नेता ने कोई इशारा नहीं किया है कि सरकार किन दो पार्षदों पर विश्वास जताने वाली है। इधर, नगर परिषद में सभापति व उप सभापति की नेम प्लेट हटा दी है। जैसे ही घोषणा होगी। दो नई नेम प्लेट लगाई जाएंगी।

खबरें और भी हैं...