• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Both Sisters Got A Government Job, Brother Was Dear To The Sisters, The Incident Of Being Cut Off By The Train Shook Him

2 बहनों का इकलौता भाई ट्रेन से कटा:पटरी पार करते समय राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आया युवक, प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था

अलवरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में मॉर्चरी के बाहर खड़े युवक के परिजन। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में मॉर्चरी के बाहर खड़े युवक के परिजन।
  • काली मोरी फाटक और पुलिया के बीच में रेल की पटरी पार करते समय ट्रेन की चपेट में आ गया।
  • घटना स्थल पर ही युवक की हो गई मौत

अलवर जिले के लक्ष्मणगढ़ के गंडूरा गांव निवासी दो बहनों का इकलौता भाई बुधवार रात्रि को राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक, 20 साल का अभिषेक, परिवार के साथ अलवर शहर में काली मोरी के पास फ्रैंड्स कॉलोनी में रहता था। पिता शिव सिंह और बहनों को हादसे की खबर सुबह हुई। वह बुधवार रात्रि को काली मोरी फाटक और पुलिया के बीच में रेल की पटरी पार करते समय राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आ गया। घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई।

अभिषेक प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था
अभिषेक भी अपनी दोनों बहनों की तरह सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहा था। मूल रूप से परिवार लक्ष्मणगढ़ के गंडूरा गांव का निवासी है और कई सालों से फ्रैंड्स कॉलोनी में रह रहा था। अभिषेक की दोनों बहनों की सरकारी नौकरी लगी है। एक बहन दो साल पहले ही लिपिक पद पर नौकरी लगी, जाे फिलहाल सचिवालय जयपुर में नौकरी कर रही है। हाल में दूसरी बहन भी लिपिक पद पर चयनित हुई है। बहनों की तरह भाई भी सरकारी नौकरी की तैयारी में लगा हुआ था। अभी परिवार को यह नहीं मालूम चला है कि वह इतनी देर रात घर से कहां गया था। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

रात 10:40 बजे राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आया
पुलिस ने बताया कि काली मोरी फाटक और ईटाराणा पुलिया के बीच में यह रेलवे ट्रैक पर राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आया है। युवक के पास मोबाइल था। मोबाइल के भी टुकड़े हो गए। पुलिस का अनुमान है कि वह या तो किसी से फोन पर बात कर रहा था या फिर ईयर फोन लगाया हुआ हो सकता है। जिसके कारण उसे ट्रेन के आने का आभास नहीं हुआ। मामले की पड़ताल की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि गुरुवार सुबह 11 बजे पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंप दिया गया।