• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Brother's Death In The Second Wave Of Corona, Now The Loss Of Lakhs Of Rupees Due To Fire In The Factory, The Tremendous Work Of The Fire Extinguishing Team

फैक्ट्री में आग से लाखों का नुकसान:कोरोना की दूसरी लहर में भाई की मौत, अब फैक्ट्री में आग से नुकसान

अलवरएक महीने पहले
फैक्ट्री में आग।

अलवर शहर में एमआईए में विशाल फूड प्रॉडक्ट फैक्ट्री में बुधवार सुबह आग लगी। आग से लाखों रुपए का नुकसान हो गया। फैक्ट्री संचालक प्रमोद अग्रवाल की आखों से आंसू छलक पड़े जब उसने बताया कि कोरोना में उसके 41 साल के बड़े भाई पवन अग्रवाल की मौत हो गई थी। अब फैक्ट्री में आग से लाखों रुपए का नुकसान हो गया। वैसे फायर ब्रिगेड टीम ने आग बुझाने में जबर्दस्त काम किया।

फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पाया।
फायर ब्रिगेड की टीम ने आग पर काबू पाया।

आग बेकाबू होती रही
पूरी फैक्ट्री में आग लग चुकी थी। चारों तरफ से धुआं ही धुआं था। फिर भी फैक्ट्री मे रखे सैकड़ों तेल के पीपे, आटा, बेसन सहित अन्य सामान को बाहर निकाला गया। काफी सामान बाहर निकालने में पड़ौस की फैक्ट्रियाें के मजदूरों ने भी मदद की। लेकिन फिर भी फैक्ट्री का काफी माल जल गया। आग सुबह साढ़े नौ बजे तक भी काबू में नहीं आ सकी थी। बीच-बीच अलग-अलग हिस्सों से आग की लपटें आती रही। तब तक दमकल की 5 गाड़ियां आ चुकी थी।

कुछ साल पहले ही प्लांट चालू किया
प्रमोद ने बताया कि कुछ साल पहले ही प्लांट चालू किया था। फैक्ट्री में प्रॉडक्शन बढ़ाने का काम शुरू किया तो आग से सब बर्बाद हो गया। अब वापस फैक्ट्री को चालू करने में लाखों रुपए का खर्च आएगा। मशीन, कच्चा माल सहित अन्य सामान जल गया है। कुछ सामान बाहर भी निकाल पाए। लेकिन वह बहुत अधिक नहीं रहा। प्लांट में धुआं ही धुआं हो गया। इस कारण सामान बाहर निकालने में बड़ी मुश्किल हो गई।

प्लांट से निकलता धुआं।
प्लांट से निकलता धुआं।

तेल में आग लगती तो मुश्किल होती
फैक्ट्री में काफी तेल के पीपे थे। उनको समय पर बाहर निकाल लिया। वरना आग आसपास की फैक्ट्रियों को भी चपेट में ले सकती थी। करीब दो साल पहले इसी फैक्ट्री के पीछे बड़ी आगजनी हो चुकी थी।

खबरें और भी हैं...