बगावत का डर:कांग्रेस-भाजपा ने नहीं किए प्रत्याशी घोषित, सीधे सिंबल देंगे

अलवर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुवार को कलेक्ट्रेट में नामांकन जमा करवाते हुए उम्मीदवार। - Dainik Bhaskar
गुरुवार को कलेक्ट्रेट में नामांकन जमा करवाते हुए उम्मीदवार।
  • देर रात तक दोनों पार्टियां करती रही मशक्कत, नामांकन का आज अंतिम दिन

पंचायत समिति व जिला परिषद सदस्य के लिए नामांकन भरने की शुक्रवार काे अंतिम तिथि है, लेकिन भाजपा व कांग्रेस ने गुरुवार देर रात तक प्रत्याशियों के नामाें की सूची जारी नहीं की। दरअसल, दोनाें प्रमुख राजनीतिक दलों को बगावत का डर सता रहा है। ऐसे में पार्टी पदाधिकारी सीधे ही निर्वाचन कार्यालयों में सिंबल जमा कराएंगे। जिले की 16 पंचायत समितियाें एवं जिला परिषद के 49 वार्डों में सदस्यों का तीन चरणों में चुनाव होना है।

जानकारी के मुताबिक फील्ड सर्वे के बाद कांग्रेस व भाजपा ने प्रत्याशियों के नामाें की फाइनल लिस्ट तैयार ली है, लेकिन इसे जारी नहीं किया है। दोनों पार्टियों को आशंका है कि इससे बगावत बढ़ सकती है। टिकट की आस लगाए बैठे हर व्यक्ति काे पार्टियां संतुष्ट नहीं कर सकती। ऐसे में दोनों पार्टियां सीधे सिंबल जमा कराने का फार्मूला अपना रही हैं।

जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली का कहना है कि सभी पंचायत समितियाें एवं जिला परिषद सदस्यों के नाम पर सहमति बन गई है। पंचायत समिति की 15-20 सीटों एवं जिला परिषद की 4-5 सीटों पर एक से अधिक दावेदार हैं। रात तक इन सीटों पर भी नाम फाइनल कर दिए जाएंगे।

शुक्रवार दोपहर ढाई बजे बाद प्रत्याशियों के नाम के सीधे सिंबल जमा करा दिए जाएंगे। भाजपा के पंचायत चुनाव प्रभारी काेटा के रामगंज से विधायक मदन दिलावर ने कहा कि जिला पदाधिकारियों ने प्रत्याशियों के नाम का पैनल प्रदेश अध्यक्ष काे भेज दिया है। देर रात तक प्रदेश मुख्यालय से प्रत्याशियों के नाम की लिस्ट जारी हाे जाएगी। पार्टी शुक्रवार काे प्रत्याशियों के नाम से सीधे सिंबल जमा कराएगी।

जिनके नाम फाइनल हुए, उन्हें फाेन पर दी गई सूचना

भाजपा व कांग्रेस काे बगावत का डर इस कदर है कि प्रत्याशियों की सूची सार्वजनिक नहीं होगी। बताया जा रहा है कि जिन प्रत्याशियों के नाम फाइनल कर दिए गए हैं, उन्हें फोन के जरिए सूचना देकर नामांकन भरने को कहा गया है।

कांग्रेस में युवाओं काे मिलेगा ज्यादा माैका :

कांग्रेस इस बार युवा चेहरों पर दांव लगाएगी। पंचायत समिति व जिला परिषद में यूथ कांग्रेस सहित पार्टी के युवाओं काे ज्यादा टिकट मिल सकते हैं। जिलेभर में बड़ी संख्या में युवाओं ने आवेदन किए हैं।

टिकट काे लेकर पार्टी नेताओं में चली रात तक खींचतान :

पंचायत चुनाव में टिकट काे लेकर भाजपा व कांग्रेस में कुछ सीटों पर प्रत्याशियों के नामाें काे लेकर खींचतान चलती रही। अलवर के एक हाेटल में ठहरे भाजपा के जिला प्रभारी मदन दिलावर के यहां रात तक टिकट दावेदाराें की लाइन लगी रही। यही स्थिति कांग्रेस में भी रही। कांग्रेस से चुनाव लड़ने का मन बना चुके दावेदार नेताओं के चक्कर लगाते रहे। पार्टी नेता भी अपने-अपने नजदीकी कार्यकर्ताओं काे टिकट दिलवाने के लिए पूरी ताकत लगाते रहे।

जूली बोले-जनता के प्रति सेवाभाव रखने वाले काे टिकट :

श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि पंचायत चुनाव में कांग्रेस पार्टी के प्रति निष्ठावान व जनता के प्रति सेवाभाव रखने वाले उम्मीदवारों को टिकट मिलेगा। गुरुवार को बड़ी संख्या में दावेदार व उनके समर्थक जूली के माेती डूंगरी स्थित कार्यालय पर पहुंचे। कांग्रेस जिताऊ तथा टिकाऊ प्रत्याशियों को टिकट देकर जिला प्रमुख व प्रधान बनाएगी। पार्टी जिस भी उम्मीदवार को टिकट देगी, सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर कांग्रेस प्रत्याशियों को जिताने में भूमिका निभाएंगे।

जिला परिषद के 14 वार्डों में अभी काेई नामांकन नहीं, 35 वार्डों में भरे पर्चे

जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव के लिए नामांकन भरने का शुक्रवार काे अंतिम दिन है। जिला निर्वाचन अधिकारी नन्नूमल पहाड़िया ने बताया कि नामांकन निर्धारित समय दाेपहर 3 बजे तक पेश किए जा सकेंगे। जिला परिषद सदस्य के चुनाव के लिए चौथे दिन गुरुवार को 62 प्रत्याशियाें ने 78 नामांकन प्रस्तुत किए।

अब तक 35 वार्डाें में 72 प्रत्याशियाें ने 93 नामांकन पत्र भरे हैं। अभी जिला परिषद के 14 वार्डाें में एक भी नामांकन नहीं भरा गया है। गुरुवार काे नवरात्र शुरू हाेने से शुभ मुहूर्त में नामांकन भरने में तेजी आ गई। नामांकन भरने का काम 4 अक्टूबर काे शुरू हुआ था। इस दाैरान श्राद्धपक्ष चल रहा था।

इसलिए चुनाव के दावेदाराें ने नामांकन भरने में रुचि नहीं ली। पहले दाे दिन 4 व 5 अक्टूबर काे जिला परिषद सदस्य के लिए एक भी नामांकन नहीं भरा गया। तीसरे दिन गुरुवार काे 10 प्रत्याशियाें ने 15 नामांकन भरे। नामांकन भरने वालाें की लगातार आवाजाही के कारण कलेक्ट्रेट में गुरुवार को दिनभर चहल-पहल का माहौल रहा। नवरात्र स्थापना का अवकाश होने के बावजूद नामांकन पत्र लेने वाले व जमा कराने वालों की भीड़भाड़ रही। अधिकांश उम्मीदवाराें ने मुहुर्त के अनुसार अपना नामांकन प्रस्तुत किया। नामांकन के लिए उम्मीदवार अपने चुनींदा समर्थकों के साथ कलेक्ट्रेट तक पहुंचे, लेकिन रिटर्निंग अधिकारी के पास प्रत्याशी सहित केवल दाे लाेगाें काे ही जाने की इजाजत थी।

इसलिए बाकी लाेगाें काे बाहर ही राेक दिया गया। अलवर जिला परिषद के 49 वार्ड हैं। इनमें से अभी 14 वार्डाें के लिए गुरुवार तक किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं भरा था। इनमें वार्ड 8, 13, 14, 15, 19, 20, 22, 25, 39, 40, 41, 43, 47 और वार्ड 49 शामिल हैं। पंचायत चुनाव में पंचायत समिति सदस्याें के लिए गुरुवार काे 550 उम्मीदवाराें ने नामांकन किए।

खबरें और भी हैं...