राजस्थान / कोरोना संदिग्ध की सामान्य वार्ड में हुई मौत, प्रशासन दिनभर छिपाता रहा, रात को स्वीकारा

अलवर. साेमवार काे बैंक बंद मिला ताे अपने घर वापस जाते बुजुर्ग। अलवर. साेमवार काे बैंक बंद मिला ताे अपने घर वापस जाते बुजुर्ग।
X
अलवर. साेमवार काे बैंक बंद मिला ताे अपने घर वापस जाते बुजुर्ग।अलवर. साेमवार काे बैंक बंद मिला ताे अपने घर वापस जाते बुजुर्ग।

  • मामले में सामान्य अस्पताल के पीएमओ डॉ सुनील चौहान ने 3 घंटे में तीन बार अपनी बात बदली
  • पहले कहा कि सामान्य अस्पताल में किसी संदिग्ध की मौत ही नहीं हुई फिर कहा कि सामान्य वार्ड में भर्ती किसी मरीज की कल मौत हुई

दैनिक भास्कर

Apr 07, 2020, 07:51 AM IST

अलवर. करीब 104 डिग्री बुखार, खांसी और कोरोना संक्रमण के लक्षण मिलने पर टपूकड़ा सीएचसी से रैफर झारखंड निवासी एक श्रमिक रविवार को अलवर के सामान्य अस्पताल में मौत हो गई। मृतक की 31 मार्च को कोराना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी। इसके बाद बिना फॉलोअप जांच कराए उसे अस्पताल प्रशासन ने पहले डिस्चार्ज कर दिया।

फिर तबीयत बिगड़ी तो दुबारा सामान्य वार्ड में भर्ती कर डाला। जबकि उसे सांस में तकलीफ और किड़नी में गंभीर संक्रमण था। जो कि कोरोना के प्रमुख लक्षणों में शामिल हैं। इतना ही नहीं पीएमओ ने पहले तो उसकी कोरोना जांच होने से ही इनकार कर दिया। मौत रविवार को होना बता दी। तीन घंटे बाद पलटे और कहा कि टेस्ट हुआ था, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई। संदिग्ध की मौत टीबी से हुई है।

दूसरी तरफ पुलिस मौत सोमवार को होना बता रही है। पूरे मामले में कोरोना स्टैंडर्ड प्रोटोकॉल की अनदेखी की बात सामने आ रही है। गौरतलब है कि झारखंड निवासी मृतक मगरा पुत्र दीतभान खुशखेड़ा में रहता था।

मामले में सामान्य अस्पताल के पीएमओ डॉ सुनील चौहान ने 3 घंटे में तीन बार अपनी बात बदली। पहले कहा कि सामान्य अस्पताल में किसी संदिग्ध की मौत ही नहीं हुई। फिर कहा कि सामान्य वार्ड में भर्ती किसी मरीज की कल मौत हुई। उसकी कोई कोरोना जांच नहीं हुई। दो घंटे बाद पलटे और कहा कि 30 मार्च को खुशखेड़ा का संदिग्ध भर्ती हुआ था। उसकी कोरोना जांच हुई जो निगेटिव आई। इसके बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया। पुन: वह 4 अप्रेल को आकर भर्ती हुआ और 5 अप्रेल को मौत हो गई।

लॉकडाउन के दौरान 30 मार्च को दो लोग उसे राशन देने पहुंचे। तब उसे 104 डिग्री बुखार, सांस में तकलीफ और खांसी थी। उसे टपूकड़ा सीएचसी ले गए। वहां से अलवर भर्ती किया और टेस्ट कराया था। रिपोर्ट निगेटिव आई तो अगले दिन डिस्चार्ज कर दिया। 

30 मार्च को कोरोना वायरस संदिग्ध मानते हुए उसे अलवर भर्ती किया था। उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी। सोमवार को उसकी मौत हो गई।
-रमाशंकर, थानाधिकारी खुशखेड़ा

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना