पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Despite The Order Of The Divisional Commissioner, Neither The Ocean Was Cleaned, Nor The Encroachment Removed From The Katla Patti Market.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी लापरवाही:संभागीय आयुक्त के आदेश के बावजूद ना सागर की सफाई हुई, ना कातला पट्टी मार्केट से अतिक्रमण हटा

अलवर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अलवर, संभागीय आयुक्त के आदेश के बाद भी सागर जलाशय की सफाई नहीं हो रही। - Dainik Bhaskar
अलवर, संभागीय आयुक्त के आदेश के बाद भी सागर जलाशय की सफाई नहीं हो रही।

संभागीय आयुक्त डाॅ. समित शर्मा 8 अप्रैल काे अलवर आएंगे। उनका यह दाैरा एक दिन का है, हालांकि बताया जा रहा है कि वे यहां दाे दिन रुक सकते हैं। इससे पहले 11 फरवरी को भी संभागीय आयुक्त अलवर आए थे और कई आदेश देकर गए थे। उन आदेशों की कितनी पालना हुई, यह जानने के लिए दैनिक भास्कर ने पड़ताल की तो पता चला हालात लगभग पहले जैसे ही हैं। उन्होंने नगर परिषद आयुक्त काे सागर जलाशय की सफाई के निर्देश दिए थे, लेकिन सागर में आज भी गंदगी है।

संभागीय आयुक्त ने कातला पट्टी मार्केट से अतिक्रमण हटाने को कहा था, लेकिन मार्केट और अतिक्रमण पहले जैसा ही है। संभागीय आयुक्त काे आश्वस्त करने वाले नगर परिषद आयुक्त ने उस समय बैठक के दाैरान कहा था कि 8 अप्रैल के दाैरे से पहले पुराना सूचना केंद्र में पार्क विकसित हाे जाएगा, लेकिन आज भी वहां कबाड़ पड़ा है। संभागीय आयुक्त के आदेशाें के बावजूद अधिकारियाें की माॅनिटरिंग इतनी कमजाेर रही कि मिनी सचिवालय के सामने से खाेखे तक नहीं हटवा पाए। जबकि संभागीय आयुक्त ने जिला परिषद में हुई मीटिंग में कहा था कि किसी भी सूरत में यह खाेखे नहीं दिखने चाहिए।

अधिकांश मामलाें में सिर्फ नाेटिस :

जिले के अधिकतर अधिकारियाें ने संभागीय आयुक्त द्वारा उठाए गए मामलाें में अधीनस्थाें काे नाेटिस देकर इतिश्री कर ली और अपनी जिम्मेदारियाें से पल्ला झाड़ लिया।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग
आदेश थे कि प्रसूताओं से बेटा या बेटी के जन्म पर किसी प्रकार की बधाई या अन्य तरीके से कर्मचारियाें द्वारा पैसे नहीं लिए जाएं। सीएमएचओ ने कहा है कि काेटकासिम में लेबर रूम में कार्यरत एलएचवी के खिलाफ 17 सीसीए में कार्यवाही प्रस्तावित कर दी है। इसके अलावा कठूमर से मिली शिकायत में स्टाफ नर्स काे 17 सीसीए में कार्यवाही प्रस्तावित की गई है। आदेश थे कि जननी सुरक्षा याेजना में लंबित प्रकरणाें का निस्तारण एक महीने में किया जाए।

हकीकत यह है कि 5431 प्रकरण आज भी लंबित हैं। कुल प्रकरण 6803 थे। आदेश थे कि बताैर हैल्थ वर्कर वैक्सीन लगवाने वाले उद्याेगपतियाें व डाॅक्टर के परिवार पर कार्रवाई करें। पालना में यह सामने आया है कि संबंधित संस्थान से वैक्सीन की कीमत राजकाेष में जमा कराने के लिए नाेटिस दिया है और कार्रवाई के लिए निदेशालय काे लिखा है। आदेश थे कि सामान्य चिकित्सालय के आईसीयू में पीपीई किट पहनकर डांस करने वालाें पर कार्रवाई करें। पालना में यह बताया है कि दाेनाें नर्सिंगकर्मियाें काे एपीओ कर दिया है और उनसे राशि वसूल कर ली गई है। कार्यवाही के लिए प्रस्ताव निदेशालय भिजवाए गए हैं।

डीसी ने कहा था- 24 घंटे करें साेनाेग्राफी, एक्सरे व खून की जांच, अधिकारियाें ने किया गुमराह
संभागीय आयुक्त ने आदेशाें में कहा था कि सामान्य चिकित्सालय में एक्सरे, खून की जांच और साेनाेग्राफी सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक करें। पालना में पीएमओ ने डीसी काे गुमराह कर दिया। पीएमओ खून की जांच के बिंदु काे ताे भूल ही गए। रिपाेर्ट में उन्हाेंने एक्सरे सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक हाेने का जिक्र किया है, लेकिन साेनाेग्राफी का समय 9 से 3 बजे तक का ही रखा है।

इसके अलावा सामान्य चिकित्सालय के नए ओपीडी भवन की मरम्मत के लिए कहा था। इसमें पीएमओ ने मिशन निदेशक काे पत्र लिखने की बात कही है। आदेश थे कि अस्पताल में काेराेना संक्रमित महिला के साथ हुई छेड़छाड़ पर कार्रवाई करें जवाब में कहा है कि महिला काे बयान के लिए कहा गया लेकिन उसने मना कर दिया। इसलिए जांच पूरी नहीं हाे पाग है। आईसीयू के स्टाफ काे चेतावनी दी गई है।

नगर परिषद : आयुक्त काे आदेश दिए थे कि नकारा सामान काे तुरंत नीलाम कर पुराना सूचना केन्द्र में गार्डन बनवाएं और श्मशान में व्यवस्थाओं काे दुरुस्त करें। हालात यह है कि जिस जगह गार्डन बनाने के आदेश दिए थे, वहां आज भी कबाड़ पड़ है। श्मशान के हालात भी बेहतर नहीं हैं।

आदेश थे कि अवैध रूप से खाेखे लगाने वालाें पर एफआईआर दर्ज करवाएं और कातला पट्टी बाजार से अतिक्रमण हटवाएं। हकीकत यह है कि आज तक एक भी एफआईआर नहीं हुई है और न ही कातला पट्टी मार्केट से अतिक्रमण हटा।

मत्स्य यूनिवर्सिटी : आदेश थे कि बिना काॅपी चैक किए नंबर देने के मामले की जांच कराएं। इसकी पालना में यह बताया कि 21 उत्तर पुस्तिकाओं का बंडल काेडिंग के दाैरान नहीं मिला। हाे सकता है वह बंडल अन्य बंडलाें के साथ कहीं मिल गया हाे। ऐसे में ढूंढने में ज्यादा समय लगता। इधर, कुछ छात्राें का बीएड में प्रवेश हाे चुका था और परिणाम जल्दी जारी करना था। ऐसे में छात्राें और अभिभावकाें के दबाव के कारण औसत अंक देने पड़े।

यूआईटी : आदेश थे कि जनाना अस्पताल के बाहर एवं स्टेशन राेड पर हाे रहे अतिक्रमण से मरीज व परिजन परेशान हैं, इसे हटाया जाए। पालना में यूआईटी ने आयुक्त काे साफ झूठ बाेला। यूआईटी ने कहा है कि 22 मार्च काे गाैरव पथ पर एसएमडी चाैराहे से बहराेड़ राेड तक अतिक्रमण हटाया गया। हकीकत यह है कि हालात आज भी पहले जैसे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें