• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Despite The Rake On Firecrackers, Air Pollution Increased By More Than Two And A Half Times On Diwali, Asthma Patients Were Troubled, Now Relieved

अलवर की हवा हुई जहरीली:पटाखाें पर राेक के बावजूद दिवाली पर ढाई गुना से ज्यादा बढ़ा वायु प्रदूषण, अस्थमा रोगी परेशान रहे, अब मिली राहत

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अलवर. शनिवार सुबह शहर में छाई स्माॅग की चादर। - Dainik Bhaskar
अलवर. शनिवार सुबह शहर में छाई स्माॅग की चादर।

शहर के वायुमंडल में वायु प्रदूषण बढ़ने के साथ सुबह व रात काे स्माॅग भी छाने लगा है। वायु प्रदूषण बढ़ने से लाेगाें काे आंखाें में जलन महसूस हाेने लगी है। कई लाेगाें काे सांस लेने में परेशानी हाेनी लगी है। दाेपहर की तुलना में सुबह व शाम के समय वायु प्रदूषण अधिक हाेता है। शनिवार दाेपहर 12 बजे बाद वायु प्रदूषण कम हाे गया। शहर में शनिवार सुबह 10.30 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) का स्तर 182 प्रति घनमीटर रहा, जाे सामान्य से 82 प्रति घनमीटर अधिक था।

इस अवधि में वायु मंडल में माैजूद मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक तत्व पीएम 2.5 प्रति घनमीटर 115.3 औरपीएम 10 प्रति घनमीटर 182 रहा। दाेपहर 1 बजे एक्यूआई 165 प्रति घनमीटर था, जाे सामान्य से 65 अधिक था। इस अवधि में वायु मंडल में माैजूद हानिकारक तत्व पीएम 2.5 प्रति घनमीटर 115 और पीएम 10 प्रति घनमीटर 165 रहा। राहत की बात यह रही कि शनिवार को 4 नवंबर की तुलना में प्रदूषण का स्तर कुछ कम रहा। 4 नवंबर काे शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 266 प्रति घनमीटर था।

इस दिन पीएम 2.5 औरपीएम 10 का स्तर 266 रहा। यह स्थिति तब थी जब दीपावली पर पूरे जिले में पटाखे चलाने पर राेक लगी हुई थी।
^सर्दियों में तापमान कम होने की वजह से हवा ठंडी हो जाती है। इस कारण वायुमंडल में माैजूद मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक गैस ऊपर नहीं जा पाती हैं।
-विजय वर्मा, भूगाेल प्राेफेसर, राजकीय कला महाविद्यालय, अलवर

यह हाेना चाहिए पीएम 2.5 व पीएम 10 का स्तर
पीएम 10 सांस लेने योग्य कण व्यास के साथ जो आमतौर पर 10 माइक्रोमीटर और छोटे होते हैं। पीएम 2.5 सूक्ष्म कण जिनका व्यास आमतौर पर 2.5 माइक्रोमीटर या उससे छोटा होता है। पीएम 2.5 का सामान्य स्तर 60 माइक्राेग्राम क्यूबिक मीटर अाैर पीएम 10 का सामान्‍य लेवल 100 माइक्रो ग्राम क्‍यूबिक मीटर हाेना चाहिए। इससे ज्यादा होने पर यह नुकसानदायक होते हैं।

खबरें और भी हैं...