पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Drinking Water Crisis In The Colonies Located Behind The Collector's Official Residence, Women Said No One Is Taking Care

कलेक्टर के आवास का घेराव:कलेक्टर के सरकारी आवास के पीछे बसी कॉलोनियों में पेयजल संकट, महिलाएं बोली कोई सुध नहीं ले रहा

अलवर2 महीने पहले
अलवर कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया �

पेयजल समस्या को लेकर गुरुवार सुबह अलवर शहर में वार्ड 48 के महिला-पुरुष अलवर कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया के सरकारी आवास का घेराव करने पहुंच गए। महिलाओं ने कहा कि कलेक्टर के मकान के पीछे रहते हैं। इसके बावजूद भी उनकी कॉलोनी में पेयजल का संकट गहरा चुका है। करीब 8 माह से लोग परेशान हैं। अब बिल्कुल पानी आना बंद हो गया तो मजबूरी में कलेक्टर के आवास के बाहर पहुंचे हैं। करीब आध घंटे तक कोई न हीं आया। इसके बाद तीनों एडीएम व एसडीएम सहित बड़ी संख्या में पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा है। इसके बाद लोगों ने कलेक्टर के खिलाफ नारेबाजी भी की।

पार्षद अजय पुनिया के साथ आए
शहर में राजर्षि कॉलेज चौराहे के पास कलेक्टर का आवास है। इसके पीछे इंद्रा कॉलोनी सहित वार्ड 48 को क्षेत्र हैं। जहां पानी की समस्या ज्यादा है। पिछले कुछ महीनों से यह समस्या दिनोंदिन बढ़ती गई है। महिलाओं का कहना है कि अब तो हालत ये हो गए कि पीने को पानी नहीं आ रहा है।

पानी के टैंकर कब तक मंगाए
महिलाओं ने कहा कि पानी का टैंकर 400 रुपए में आता है। कब तक मंगाए। इतने सक्षम नहीं हैं कि हर दूसरे दिन पानी का टैंकर मंगा सकें। जलदाय विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को अवगत करा दिया। इसके बावजूद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका है। अब पानी के लिए ज्यादा मारामारी हो चुकी है। कुछ लोग तो आसपास के बोरवैल से लेकर आते हैं। कुछ टैंकर के भरोसे हैं। जलदाय विभाग की सप्लाई व्यवस्था बिगड़ चुकी है। जिसको लेकर अधिकारियों को अवगत करा दिया है। इसके बावजूद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका।

महिलाओं से बातचीत कर रहे एडीएम कमलराम मीना।
महिलाओं से बातचीत कर रहे एडीएम कमलराम मीना।

आगे जाम लगाने की चेतावनी
वार्ड के लोगों ने प्रशासन को चेता दिया है कि उनकी समस्या का समाधान नहीं किया गया तो आगे कलेक्टर के आवास के बाहर ही जाम लगा देंगे। बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुटने के काफी देर बाद तक पुलिस भी नहीं पहुंची थी। पुलिस के आने के बाद प्रशासन के अधिकारी आने लगे हैं।

पानी को लेकर आए दिन जाम
शहर में पेयजल वितरण व्यवस्था गड़बड़ा चुकी है। आए दिन कहीं न कहीं के लोग जाम लगाते रहते हैं। जिसके कारण आमजन को भी परेशानी होती है। दूसरी और जलदाय विभाग के अधिकारी बार-बार यह कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं कि बोरवैल सूख गए। हम क्या कर सकते हैं। नए बोरवेल कराकर आवश्यक इंतजाम कराने में लगे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...