• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Due To Which The Blood Only Bleed, About Two Feet On The Road Also Covered With Blood, Now The Operation Is Being Done In JK Lone Hospital.

नाबालिग गैंगरेप पीड़िता के खून से सड़क लाल हो गई:दरिंदों ने नुकीली चीज से वार किए, चिल्लाकर दर्द भी बयां नहीं कर पाई बेजुबान

अलवर10 दिन पहले

अलवर में दिल्ली के निर्भया कांड जैसा दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। दरिंदों ने मूकबधिर नाबालिग के साथ गैंगरेप किया। इसके बाद किसी नुकीली चीज से नाबालिग के प्राइवेट पार्ट पर जख्म दिए। बेजुबान होने के कारण पीड़िता चिल्लाकर अपना दर्द भी बयां नहीं कर पाई। युवक उसे लेकर गाड़ी में घूमते रहे। जख्मों से खून लगातार रिसता रहा तो वे उसे एक पुलिया पर फेंक कर भाग गए।

पीड़िता तिजारा पुलिया पर करीब एक घंटे पड़ी रही। इतना खून बहा कि सड़क लाल हो गई। खून से लथपथ नाबालिग को कुछ राहगीरों ने देखा तो पुलिस को सूचना दी। रात 9 बजे पीड़िता को जिला अस्पताल लाया गया।

मंगलवार शाम से लापता थी
डॉ केके मीणा ने बताया कि शुरुआत में नाबालिग को देखकर लगा कि वह मानसिक रूप से कमजोर हो सकती है। मुंह से आवाज नहीं निकल रही थी, तब पता चला कि वह मूकबधिर है। उम्र करीब 14 साल है। मंगलवार शाम करीब 4 बजे घर से निकल गई थी। अभी तक यह पता नहीं चला कि दरिंदों ने कहां से और कैसे उसका अपहरण किया।

काफी बड़ा कट लगा
डॉ केके मीणा ने बताया कि नाबालिग का बहुत अधिक खून बह चुका था। उसके प्राइवेट पार्ट में काफी बड़ा कट लगा हुआ था। किसी नुकीली चीज से ये जख्म किया गया। इसी कारण उसका काफी खून बह गया है।

पुलिया पर जांच करता टीम का सदस्य। पीड़िता तिजारा पुलिया पर करीब एक घंटे पड़ी रही। इतना खून बहा कि सड़क लाल हो गई।
पुलिया पर जांच करता टीम का सदस्य। पीड़िता तिजारा पुलिया पर करीब एक घंटे पड़ी रही। इतना खून बहा कि सड़क लाल हो गई।

अस्पताल में 2 यूनिट खून चढ़ाया
अलवर के अस्पताल में बालिका को 2 यूनिट खून चढ़ाया गया। इसके बाद एक यूनिट एक्स्ट्रा खून के साथ नाबालिग को अलवर से जयपुर रेफर किया। जयपुर में डीएसपी अंजू जोरवाल सहित स्टाफ लेकर गया। वहां जेके लॉन अस्पताल में नाबालिग का इलाज चल रहा है। ऑपरेशन की जरूरत भी इसलिए पड़ी कि नाबालिग के प्राइवेट पार्ट में नुकीली वस्तु डाली गई थी, जिससे काफी बड़ा कट लगा हुआ था।
सरकार से साढ़े 3 लाख की सहायता
नाबालिग के परिवार को सरकार से करीब साढे 3 लाख रुपए की सहायता देने की कलेक्टर ने मंजूर की है। इसके अलावा अलवर ग्रामीण के विधायक व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री टीकाराम जूली नाबालिग के परिवार से मिले हैं। पूरी मदद का आश्वासन दिया है।

अलवर में गैंगरेप के बाद नाबालिग को पुलिया पर फेंका:लहूलुहान हालत में पीड़िता एक घंटा तड़पती रही, हालत बेहद नाजुक; जयपुर रेफर