पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • ESIC Medical College Dean Said That MJS Company Had Received The Recruitment Order Of 108 Posts, Out Of Which 82 Were Recruited.

एसीबी की रेड से पहले ही कर ली भर्ती:ESIC मेडिकल कॉलेज डीन ने कहा-108 पदों का भर्ती ऑर्डर एमजेएस कम्पनी को मिला था, उसमें से 82 भर्ती कर लिए

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इएसआइसी मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. हरनाम कौर। - Dainik Bhaskar
इएसआइसी मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. हरनाम कौर।

अलवर के ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में शुक्रवार को एसीबी की रेड में पैसे लेकर काॅन्ट्रेक्ट बेस पर नर्सिंगसकर्मी व पैरामेडिकल स्टाफ की भर्ती करने का खुलासा हो गया। लेकिन, एसीबी की रेड से पहले ही 108 में से 82 पदों पर भर्ती हो चुकी थी। अब भर्ती हो चुके लोगों को नौकरी पर रखा जाएगा या नहीं। इसका कोई पता नहीं है। अभी एसीबी की कार्रवाई जारी है। एसीबी की जांच में बड़ा भ्रष्टाचार सामने आ चुका है। संभवतया इस आधार पर एमजे सोलंकी फर्म को ब्लैक लिस्ट किया जा सकता। इसके जरिए की गई भर्ती भी निरस्त हो सकती है। शुक्रवार को एसीबी ने चारों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। जहां से उनको तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। आरोपियों में दो अलवर से, एक अजमेर व चौथा जोधपुर से गिरफ्तार किया गया था।

डीन ने कहा- 82 भर्ती हो चुके हैं

मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. हरनाम कौर ने कहा एसीबी की रेड पड़ने के बाद उनकाे मालूम चला कि संविदा पर कर्मचारी भर्ती करने वाली कम्पनी ने गड़बड़ी की है। असल में एमजे सोलंकी कम्पनी को पहले चरण में 108 पदों पर भर्ती का ठेका मिला था। जिसमें से 82 पद भर भी दिए हैं। वैसे मेडिकल कॉलेज में 500 से अधिक पदों पर भर्ती होनी है। फिलहाल 108 पद ही भरे जाने थे लेकिन, अब एसीबी की रेड के बाद पता चला कि पैसे का लेन-देन हुआ है।

हम पूरी मदद कर रहे हैं

डीन कौर ने कहा कि हम एसीबी की पूरी मदद कर रहे हैं। शुक्रवार को समय पर मेडिकल कॉलेज आ गए। हमसे जो भी जानकारी मांगी गई है। मुहैया कराने में लगे हैं। हमें इसका बिल्कुल नहीं मालूम था कि पैसे की लेन-देन हुई है। असल में नियमानुसार एमजे कम्पनी को संविदा पर भर्ती करने का जिम्मा मिला था। कम्पनी अपने स्तर पर ही क्वालिफाई कैंडिडेट भर्ती करती है। इस प्रक्रिया में कॉलेज का कोई रोल नहीं है।

कॉलेज के 7 चैम्बर सील किए थे

एसीबी ने शुक्रवार रात करीब दो बजे मेडिकल कॉलेज में डीन सहित 7 अधिकारी व कर्मचारियों के चैंबर सील किए गए थे। ताकि आगे की जांच निरंतर चलती रही। डीन ने कहा कि हमनें किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं किया। सभी पूरा सहयोग करने में लगे हैं।

खुले में चली है रिश्वत

एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि एमजे कम्पनी के प्रतिनिधियों ने खुले में रिश्वत लेकर संविदा पर नर्सिंगकर्मी व पैरामेडिकल स्टाफ लगाया है। करीब 20 लाख रुपए अलवर, अजमेर व जोधपुर से जब्त किया है। चार जनों को गिरफ्तार किया गया। जिनको शुक्रवार केा अलवर के जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया। अब उनको कोर्ट में पेश किया जाना है।

खबरें और भी हैं...