पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Former Cabinet Minister Rohitashv Sharma Said That 9 Out Of 10 People Across The State Are Taking The Name Of Vasundhara That The Best Leader In BJP Is The Same.

अलवर में भी वसुंधरा रसोई:पूर्व केबिनेट मंत्री रोहिताश्व शर्मा बोले- प्रदेशभर में 10 में से 9 लोग वसुंधरा का नाम ले रहे, भाजपा में बेस्ट लीडर तो वही

अलवर3 महीने पहले
जिला अस्पताल के सामने वसुंधरा रसोई में खाना बांट रहे भाजपा के नेता।

भाजपा में बड़े नेताओं की गुटबाजी गरीब के खाने तक पहुंच चुकी है। नागौर के बाद अलवर में भी मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नाम से रसोई की शुरूआत की गई है। वसुंधरा मंच के नेतृत्व में जिला अस्पताल के सामने दो बड़े बैनर लगाकर गरीबों को खाना बांटा गया। इस दौरान पूर्व केबिनेट मंत्री डॉ रोहिताश्व शर्मा के साथ पार्टी के कई अन्य नेता भी नजर आए। पूर्व मंत्री शर्मा पहले भी यह कह चुके हैं कि जिस तरह केन्द्र में विपक्ष नहीं है। ठीक वैसे ही राजस्थान में भी विपक्ष कमजोर है। जो केवल मीडिया पर ही नजर आता है। धरातल पर रहीं।

कुछ नेता आए लेकिन, फोटो से बचते रहे
वसुंधरा रसोई की शुरूआत पर कई भाजपा के कई नेता भी पहुंचे। लेकिन, वे सामने आकर फोटो से बेचते नजर आए। उनका लगा रहा था कि कहीं पार्टी की बजाय वसुंधरा राजे के नाम से उनका नाम जुड़ गया तो आगे नुकसान भी हो सकता है। पूर्व मंत्री डॉ रोहिताश्व शर्मा से बातचीत की तो उन्होंने क्या कहा आप भी जानिए।

पोस्टर पर भाजपा का नाम नहीं है वसुंधरा का नाम क्यों?
देखिए, ये वसुंधरा मंच का कार्यक्रम है। भाजपा राजनीतिक पार्टी है। लेकिन, यह सामाजिक कार्यक्रम है। यह दोनों में अंतर है।
मैसेज यह जा रहा है पार्टी से बड़ी पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे है?
इतना जरूर है कि भाजपा में राजस्थान की सबसे बड़ी लीडर वसुंधरा राजे हैं।
फिर क्या विपक्ष के प्रदेशाध्यक्ष सहित कई चेहरे हैं वे नेता कमजोर हैं?
चेहरा तो दूसरा दिखाया ही नहीं है। पांच से छह नाम चल रहे हैं। कोई किसी को मुख्यमंत्री बना देता कोई किसी को।
वसुंधरा के पक्ष में चुनाव से पहले भी लागे ऐसे ही निकल कर आ सकते हैं?
देखिए, 10 लोगों से रायशुमारी लेकर देख लो। उसमें से नौ वसुंधरा राजे का नाम ही लेंगे। बेस्ट तो वसुंधरा राजे ही हैं।
वसुंधरा राजे चेहरा नहीं रही तो क्या राजस्थान में भाजपा की सरकार नहीं बन सकेगी?

वैसे तो कांग्रेस के कारनामों से उनकी एक सीट नहीं आ रही है। लेकिन, पब्लिक की दूसरा सोच भी होता है कि बिना लीडर के किसके हाथ में सत्ता दे दें।

उप चुनाव के पोस्टरों से वुसंधरा रही थी गायब

हाल में प्रदेश में हुए तीन विधानसभा सीटों के उपचुनाव से जुड़े पोस्टरों से वसुंधरा राजे का चेहरा गायब रहा था। लेकिन, उसके बाद वसुंधरा समर्थकों ने पूर्व मुख्यमंत्री के नाम से रसाई शुरू कर दी। इस रसोई के पोस्टरों पर भाजपा संगठन के नेताओं का न नाम है न चेहरा। केवल पार्टी के कमल का निशान है। पिछले दिनों वसुंधरा रसोई की शुरूआत नागौर में भी हुई थी। वहां भी पार्टी के नेताओं ने वसुंधरा राजे को ही बड़ा चेहरा बताया था।ठीक उसी तरह अलवर में भी वसुंधरा समर्थक नेता आगे आ गए हैं।

वसुंधरा भी शीर्ष नेतृत्व: जिलाध्यक्ष

मेरा यह कहना है कि सोशल एक्टिविटी कोई भी कर सकता है। वसुंधरा राजे पार्टी में शीर्ष नेतृत्व के रूप में कार्य कर रही है । यह सबका अपना-अपना आकलन है। हम नेतृत्व में विश्वास रखते हैं। हमारा जो कुछ भी कमल का फूल है। हम किसी व्यक्ति विशेष की बजाय संगठन को अधिक महत्व देते हैं।

संजय नरूका, जिलाध्यक्ष, भाजपा

खबरें और भी हैं...