• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Had The Helmet Been On, My Life Would Have Been Saved, Was Returning After Selling Chillies In The Market, Half The Head Of The Teenager Was Torn Apart Due To The Collision Of The Tractor.

इकलौते बेटे को ट्रैक्टर की टक्कर, मौत:हैलमेट होता तो बच जाती जान, मण्डी में मिर्च बेचकर लौट रहा था, ट्रैक्टर की टक्कर से किशारे का आधा सिर फट गया था

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक युनूस। - Dainik Bhaskar
मृतक युनूस।

अलवर के लक्ष्मणगढ़ के छिलोड़ी गांव निवासी 15 साल के किशोर को गुरुवार सुबह करीब 9 बजे ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। किशोर सब्जीमण्डी में मिर्च बेचकर बाइक से गांव लौट रहा था। रास्ते में ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी। मृतक युनूस पुत्र नवाब अपने माता-पिता इकलौता बेटा था। जिसके दो बहन हैं। वह पास के स्कूल में 10वीं कक्षा में पढ़ता था। इस घटना के बाद गांव में शोक छा गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

पुलिस ने बताया कि 15 साल का किशोर युनूस खुद की बाइक से कठूमर में मिर्च बेचकर वापस गांव लौट रहा था। कठूमर की तरफ जावली का तिबारा के पास ट्रैक्टर ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि किशोर को आधा सिर फट गया। मौके पर खून ही खून हो गया। जिसे तुरंत अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। पूरे गांव में इस घटना से शोक छा गया। यह हादसा होने के बाद माता-पिता की बेसुध हाल में हैं। पिता ट्रक ड्राइवर हैं। पुलिस ने पिता को सूचना दी है। वे भिवाड़ी से आंएगे।

हैलमेट होता तो बच जाती जान
जानकारों का कहना है कि मृतक किशोर के पास हैलमेट होता तो उसकी जान बच सकती थी। असल में उसके सिर में ही गहरी चोट लगी है। करीब आधा सिर ही फट गया। सिर के अलावा कहीं अधिक गहरी चोह नहीं है। हेलमेट होता तो किशोर की जान बचने की पूरी संभावना रहती। ग्रामीणों ने बताया कि युवक खेती संभालने लगा था।

फोटो व कंटेंट:चंद्रप्रकाश पाराशर, लक्ष्मणगढ़

खबरें और भी हैं...