• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Husband And Wife Were Going On A Bike, The Troll Hit, The Husband Got Stuck In The Rear Tyres, Stomach thighs Broke, AAEN Showed Courage From The Crowd

चलते ट्राले में फंसा युवक:बाइक पर जा रहे पति-पत्नी को ट्राले ने मारी टक्कर, युवक टायरों में फंसकर घिसटता रहा; लोग देखते रहे, लेकिन एक मदद से बच गई जान

अलवर2 महीने पहले
घायल मुबारिक का अस्पताल में इलाज करते डॉक्टर।

अलवर में सामोला चौक के पास बुधवार को एक ट्राले ने बाइक सवार पति-पत्नी को टक्कर मार दी। टक्कर के बाद बाइक पर पति ट्राले के टायरों में फंस गया। काफी दूर तक घिसटता गया। पेट-जांघ पूरी तरह चिर गए, जिससे उसके पेट के निचले हिस्से से आंत भी बाहर आ गई। सड़क पर खून ही खून हो गया। इतना सब होने के बाद भी युवक जिंदा है, जिसका अलवर में इलाज चल रहा है। ये मुमकिन हो पाया एक अंजान व्यक्ति की मदद के कारण, जो समय पर पीड़ित को अस्पताल लेकर पहुंच गए।

घटना सुबह करीब 10 बजे की है। भरतपुर के कामां के कमरुका गांव से युवक मुबारिक और उसकी पत्नी के साथ अलवर के पास अकबरपुर गांव जा रहे थे। ​​​​​​अचानक उनकी बाइक को ट्राले ने टक्कर मार दी। बाइक सवार मुबारिक ट्राले के टायरों में फंस गया, वह कुछ दूरी तक घिसटता गया। ट्राला रुका, लेकिन कोई मदद के लिए आगे नहीं आया। युवक की पत्नी भी दूर घायल पड़ी थी। युवक ट्राले के टायरों में पूरी तरफ फंसा हुआ था। शरीर के सामने का पूरा हिस्सा चिर गया था। आंत बाहर आ गई। इस कारण बहुत ज्यादा खून निकला। एक्सीडेंट के बाद भी काफी देर तक लोग पुलिस के आने का इंतजार करते रहे।

मदद के लिए पहुंचे एईएन

घटनास्थल से राजगढ़ में बिजली विभाग में कार्यरत एईएन दीपक शर्मा गुजर रहे थे। पीड़ित को देखते ही उन्होंने कार रोकी। तुरंत गाड़ी से उतरे और युवक को बाहर निकालने में जुट गए। उनके कहने पर कुछ और लोग आ गए। तभी डिस्ट्रिक्ट सप्लाई मैनेजर हनुमान प्रजात भी आए। ​एईएन दीपक शर्मा खुद की कार में खून से लथपथ घायल मुबारिक को लेटाया।

एईएन की कार में खून ही खून हो गया।
एईएन की कार में खून ही खून हो गया।

दीपक ने बताया कि युवक की आंत बाहर आ गई थी, जिसे उसने अपनी गाड़ी में रखे टावल से अंदर किया। कार में भी खून ही खून हो गया, लेकिन उसे समय पर अस्पताल ले आए। प्राथमिक उपचार हो गया। खून ज्यादा बहने से डॉक्टर उसे रैफर करने की तैयारी में है। अस्पताल में भर्ती कराने के बाद एईएन दीप शर्मा और हनुमान प्रजापत वहां से निकले। तब तक घायल के परिजनों को सूचना दे दी गई थी।

एईएन दीपक शर्मा
एईएन दीपक शर्मा

पत्नी बोली- अकबुर जा रहे थे
पति का हाल देख पत्नी की हालत भी खराब थी। वह बोली कि उन्हें कई साल से बच्चा नहीं हुआ है। इस कारण वे अकबरपुर में मौलवी के पास जा रहे थे। इससे पहले ही एक्सीडेंट हो गया। पति का बुरा हाल हो गया। एक्सीडेंट के दौरान वह दूर गिर गई थी। इस कारण बच गई। डॉक्टरों ने कहा कि मरीज का खून काफी बह चुका है, लेकिन फिलहाल उसकी हालत ठीक है। जयपुर रैफर करना पड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...