• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • If The Bills Of The Two Months Are Investigated, The Picture Will Come Out, DD Changed In 24 Hours, Belle Should Talk To The Collector, Not Me

कराेड़ाें का है बंसल फर्म का खाद घाेटाला:दाे माह के बिलाें की जांच हाे ताे सामने आएगी तस्वीर, 24 घंटे में बदल गए डीडी, बाेले मुझसे नहीं कलेक्टर से बात कराे

अलवर4 दिन पहलेलेखक: राधेश्याम तिवारी
  • कॉपी लिंक
भास्कर में प्रकाशित खबर। - Dainik Bhaskar
भास्कर में प्रकाशित खबर।

खाद की कालाबाजारी में माफिया बन चुके सीकरी की बंसल फर्म का यह खाद घाेटाला हजाराें या लाखाें का नहीं बल्कि कराेड़ाें रुपयों का है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह साफ हुआ है कि पिछले दाे महीने से मनेाज बंसल खाद का डंप अलवर में ही करवा रहा था। यही नहीं खुद के आर्डर के अलावा वह इधर-उधर से ही सीधी डील कर लेता था। मतलब कंपनी से माल जहां जाना रहता था वहां नहीं जाकर बीच में से गायब हाे जाता था। यहां से वह इस खाद काे कैमिकल प्लांटाें व कालाबाजारी के जरिए किसानाें काे बेचता था।

थाने में भी खाद की कालाबाजारी कर चुका है आरोपी बंसल

आराेपी बंसल के हौंसले इतने बुलंद है और इतना संरक्षण प्राप्त है कि वह थाने में भी खाद की कालाबाजारी कर चुका है। मामला अक्टूबर 2021 का भरतपुर जिले के सीकरी थाने का है। खाद की किल्लत ज्यादा बढ़ी ताे ट्रक काे थाने में खड़ा करवाया गया। लालची विक्रेता काे पुलिस का भी डर नहीं लगा और थाने से ही खाद की कालाबाजारी शुरू कर दी। गंभीर शिकायतों के बाद बंसल खाद बीज भंडार का लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिया गया था।
मैं सुबह कलेक्ट्रेट में दाे तीन मीटिंग थी उनमें व्यस्त था, इसलिए माैके पर नहीं जा पाया। मैने अधिकारी भेज दिए थे। आप निश्चिंत रहें। हर सूरत में सख्त से सख्त कार्यवाही हाेगी। हम किसी भी तरह से पीछे नहीं हैं। -पीसी मीणा, उपनिदेशक कृषि

खबरें और भी हैं...