पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर विशेष:डेंगू, चिकनगुनिया व मलेरिया से बचना है तो घर में मच्छर न पनपने दें

अलवर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डाॅ. गुंजन शर्मा, जिला महामारी रोग विशेषज्ञ। - Dainik Bhaskar
डाॅ. गुंजन शर्मा, जिला महामारी रोग विशेषज्ञ।

जब तक घरों में मच्छरों का पनपना नहीं रोकेंगे, तब तक डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया की गिरफ्त में आते रहेंगे। शहरी क्षेत्र में सीवर लाइन डालने के बाद नालियां सूख चुकी हैं, लेकिन घरों में रखे कूलर, गमलों, परिंडों और पशुओं के लिए घरों के आगे रखी टंकियों में भरे पानी में पनप रहा लार्वा बीमार कर रहा है, लेकिन लोग इस तरफ ध्यान ही नहीं दे रहे हैं।

डेंगू और चिकनगुनिया रोग एडीज एजिप्टी नामक मच्छर के काटने से फैलता है। ये एक ही मच्छर दो रोग फैला रहा है। ये पहले बीमार को काटने के बाद संक्रमित होता है और फिर जितने लोगों में डंक लगाता है, उन्हें संक्रमित कर बीमार कर देता है। ये मच्छर अक्सर दिन में ही काटते हैं।

साफ पानी में पनपने वाले ये मच्छर घरों, स्कूलों और अन्य भवनों एवं उनके आसपास खुले साफ पानी में अंडे देते हैं। अगर हर व्यक्ति इन्हें पनपने से रोकने का प्रयास करें तो बीमारी को मिटाया जा सकता है। मच्छरजनित बीमारियां घातक होती हैं। डेंगू शॉक सिंड्रोम काफी खतरनाक होता है, जिसमें प्लेटलेट गिर जाती हैं और स्वत: रक्त बहना शुरू हो जाता है।

चिकनगुनिया में जोड़ अकड़ जाते हैं और मलेरिया पीएफ भी जानलेवा साबित हो सकता है। ऐसा एक केस थानागाजी क्षेत्र में मिल चुका है।

डेंगू व चिकनगुनिया के लक्षण : अचानक तेज बुखार, सिर में आगे की ओर तेज दर्द, मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द, स्वाद का पता न चलना व भूख न लगना, छाती व ऊपरी अंगों पर खसरे जैसे दाने, चक्कर आना, जी घबराना व उल्टी आना।

मलेरिया के लक्षण : मादा एनाफिलीज नामक मच्छर से फैलने वाले मलेरिया में अचानक सर्दी लगना (कंपकंपी लगना)। फिर गर्मी लगकर तेज बुखार होना। पसीना आकर बुखार कम होना व कमजोरी महसूस करना आदि लक्षण हैं।

3 साल में 4 बीमारियों के मरीज
डेंगू : वर्ष 2019 में 656, वर्ष 2020 में 244 और वर्ष 2021 के तीन महीनों में 41 नए मरीज मिले।
स्क्रब टाइफस : वर्ष 2019 में 137, वर्ष 2020 में 46 मरीज मिले। वर्ष 2021 में एक भी मरीज नहीं मिला।
चिकनगुनिया : वर्ष 2019 में 101, वर्ष 2020 में 67 और वर्ष 2021 में 27 नए मरीज मिले।
मलेरिया: वर्ष 2019 में 91, वर्ष 2020 में 16 और वर्ष 2021 में मलेरिया पीएफ का एक मरीज थानागाजी ब्लॉक में मिला है।

ऐसे करें बचाव
बच्चों को दिन के समय पूरी बाह वाले कपड़े पहना कर रखें। मच्छरदानी का उपयोग करें। कूलर का पानी सप्ताह में एक बार जरूर बदलें। टंकियों तथा बर्तनों को ढक कर रखें। घर के आसपास पुराने टायरों तथा डिब्बों मे भरा हुआ पानी खाली करें।

जले हुए तेल (मोबिल ऑयल) या केरोसिन को नलियों में या इकट्ठे पानी पर डालें। बुखार होने पर डॉक्टर की सलाह से खून की जांच करवाएं और उपचार लें। गंदे पानी में पनपने वाले मलेरिया के मच्छरों को रोकने के लिए मछली गंबूसिया को डालें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें