पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खुलासा:अनपढ़ सरगना करता था खातों से रकम पार, 8 राज्यों के 23 बड़े शहरों में कर चुका कई वारदातें

अलवर/भिवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यह खबर उन लोगों के लिए, जो कहते हैं कि एटीएम कार्ड मेरे पास था, फिर भी खाते से रुपए निकल गए
  • मुख्य सरगना सहित तीन गिरफ्तार, 18 एटीएम कार्ड, होंडा सिटी कार व कार्ड क्लोनिंग के उपकरण बरामद

यह खबर उन लोगों के लिए हैं, जो कहते हैं कि एटीएम कार्ड मेरे पास था, फिर भी बैंक खाते से रुपए निकल गए। जरा सी चूक आपके कार्ड का डेटा चोरी करवाकर खाता साफ करा सकती है। एटीएम कार्ड की क्लोनिंग के जरिए खातों से नकदी उड़ाने वाली एक ऐसी ही अंतरराज्यीय गैंग के तीन बदमाशों को भिवाड़ी की ततारपुर थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी 8 राज्यों के 23 से अधिक शहरों में वारदात कर चुके हैं। उन्हें गिनती भी याद नहीं कि वो अब तक कितने खातों से रकम उड़ा चुके।

ये बदमाश वारदात के लिए दूसरे राज्यों में प्लेन से जाते थे और शाही जिंदगी जीते थे। मामले का खुलासा करते हुए भिवाड़ी एएसपी अरुण मच्या ने बताया कि ततारपुर थाना प्रभारी विजय चंदेल और उनकी टीम ने ततारपुर चौराहे के समीप एटीएम का क्लोन तैयार कर ठगी करने वाली गैंग के मुख्य सरगना वीरेन्द्र सांसी उर्फ रग्गड उर्फ मामा (36) निवासी डाटा थाना हांसी सिटी (हिसार), अनीश उर्फ अनील (22) निवासी लोहचब (जींद) व राहुल (23) निवासी हांसी सिटी को गिरफ्तार किया है। इनसे क्लोनिंग में प्रयुक्त होने वाली कार्ड रीडर व कार्ड राइटर मशीन सहित 1 मोबाइल, 18 एटीएम कार्ड तथा होंडा सिटी कार बरामद की है।

गिरोह का सरगना वीरेन्द्र मोबाइल नहीं रखता, 18 साल से लाेगों को ठग रहा था

मुख्य सरगना वीरेन्द्र उर्फ रग्गड अनपढ़ है और अपने पास मोबाइल भी नहीं रखता। वह 18 साल से ठगी के धंधे में है। पहले जेब काटता था। अनीश उसका भांजा है और राहुल उनका दोस्त है। दोनों दसवीं पास हैं। उसने तीन-चार साल से अनीश के साथ मिलकर एटीएम बूथों में जाकर लोगों के एटीएम कार्ड का डेटा चोरी करने और फिर क्लोन तैयार कर नकदी निकालने का धंधा शुरू किया। वारदातों को अंजाम देने के लिए वो अलग-अलग राज्यों में हवाई यात्रा करके जाते और उड़ाई गई नकदी से हाई-प्रोफाइल जिंदगी जीते।

आरोपी अब तक बिहार, यूपी, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उड़ीसा व महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में सैंकड़ों वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। बदमाशों को पकडऩे वाली पुलिस टीम में ततारपुर थाना प्रभारी विजय चंदेल, एएसआई सूबेसिंह, हैडकांस्टेबल साहबूद्दीन, पुष्पेन्द्र शामिल थे।

ये वारदातें कबूली

  • मार्च में दिल्ली से भुवनेश्वर हवाई यात्रा की और तीन-चार एटीएम की क्लोनिंग कर 80 हजार रुपए उड़ाए।
  • 21 अप्रैल को हिसार बाइपास पर एक व्यक्ति के एटीएम का क्लोन बना 30 हजार रुपए निकाले।
  • 26, 27, 29 व 30 जुलाई को हरिद्वार, बागपत, पानीपत, कैथल, कुरुक्षेत्र व सोनीपत में 16 लोगों के एटीएम क्लोन कर 2.30 लाख रुपए पार किए।
  • 5, 22, 23, 24, 25, 28 व 29 सितंबर को यमुनानगर, पानीपत, नवाजाबाद, बाराबंकी, लखनऊ, प्रयागराज व पटना में 25 लोगों के एटीएम कार्ड क्लोन कर 4.20 लाख रुपए पार किए।

जानिए, कैसे बनता है आपके एटीएम का क्लोन

  • बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि वो किसी भी एटीएम बूथ में जाकर लोगों को अपनी बातों में उलझा उनका एटीएम कार्ड लेते हैं और हाथ में पकड़ी छोटी सी कार्ड रीडर मशीन पर उसे स्वैप कर उसका डेटा चोरी कर लेते हैं और फिर कार्ड वापस कर देते हैं। इस बीच वो ग्राहक का पिन नंबर भी देख लेते हैं।
  • इस डेटा को ब्लूटूथ के जरिए मोबाइल में डाले गए ईजी-एमएसआर नाम के एप में स्टोर करते और फिर दूसरी कार्ड राइटर मशीन के जरिए अपने पास मौजूद किसी दूसरे एटीएम कार्ड को री-राइट कर एटीएम का क्लोन तैयार करते हैं। इसके बाद फिर उपभोक्ता के खाते से नकदी निकासी का सिलसिला शुरू हो जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें