पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना का असर:कृष्ण जन्माष्टमी 12 को, फेसबुक पर लाइव प्रसारण, ऑनलाइन कराई जाएगी कृष्ण रूप सज्जा प्रतियाेगिता

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार भजन संध्या व सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हाेंगे, झांकियां भी नहीं सजाई जाएंगी

कृतिका नक्षत्र, सर्वार्थ सिद्धि व ध्रुव याेग में 12 अगस्त काे कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। काेराेना संक्रमण के कारण इस बार मंदिराें में साधारण तरीके से कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। भजन संध्या और सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हाेंगे। झांकियां भी नहीं सजाई जाएंगी। मंदिराें में प्रवेश पर राेक हाेने के कारण लाेग घराें में ही जन्माष्टमी मनाएंगे। पं. यज्ञदत्त शर्मा ने बताया कि 11 अगस्त काे रात 12.57 से 12 अगस्त काे रात 3.26 बजे तक कृतिका नक्षत्र है।

12 अगस्त बुधवार काे भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी काे भगवान कृष्ण के जन्म के समय रात 12 बजे कृत्तिका नक्षत्र रहेगा। संपूर्ण दिन-रात सर्वार्थ सिद्धि याेग, ध्रुव याेग व वृष राशि के चंद्रमा का शुभ संयाेग बन रहा है। यह संयाेग खुशहाली और प्रगति के लिए शुभ माना गया है। शास्त्रानुसार भाद्र पद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि बुधवार काे रात 12 बजे भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। उस समय राेहिणी नक्षत्र और वृषभ का चंद्रमा था।

सुदर्शनाचार्य महाराज ने बताया कि कृष्ण जन्माष्टमी पर रात 10 से 12 बजे तक रामकिशन काॅलाेनी काला कुआं स्थित वेंकटेश बालाजी धाम मंदिर में कार्यक्रम हाेगा। इस दाैरान भगवान लड्डू गाेपाल की प्रतिमा का अभिषेक, शृंगार व प्रवचन के बाद आरती हाेगी। मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर राेक के कारण कार्यक्रम का फेसबुक पर सीधा प्रसारण दिखाया जाएगा।

बजाजा बाजार स्थित महावर गाेविंददेव मंदिर के पुजारी पंडित दिनेश शर्मा ने बताया कि काेराेना के कारण इस बार कृष्ण जन्माष्टमी पर कीर्तन नहीं हाेगा, दही-हांडी भी नहीं फाेड़ी जाएगी। भगवान की प्रतिमा का अभिषेक किया जाएगा, नई पाेशाक पहनाई जाएगी, भाेग लगाकर आरती की जाएगी।

इसी प्रकार अग्रवाल महासभा के अध्यक्ष अमित गाेयल ने बताया कि अग्रसेन मार्ग स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी पर सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हाेगा। भगवान का अभिषेक व मनमाेहक शृंगार किया जाएगा तथा आरती के बाद प्रसाद वितरण हाेगा। संस्कार भारती के प्रांतीय महामंत्री सतीश शर्मा ने बताया कि इस बार कृष्ण जन्माष्टमी पर ऑन लाइन कृष्ण रूप सज्जा प्रतियाेगिता हाेगी। प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त करने वालाें काे प्रांत स्तर पर प्रतिभा दिखाने का माैका मिलेगा।

ऐसे करें पूजा
एक चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर उस पर स्टील की परात में भगवान कृष्ण के बाल रूप की चल प्रतिमा स्थापित करें। इसके बाद इस प्रतिमा का पंचामृत से स्नान कराएं, नए वस्त्र पहनाएं, चंदन का तिलक लगाएं, शृंगार करें, कानाें में बाली, कलाई में वस्त्र, हाथ में बांसुरी, सिर पर माेरपंख वाला मुकुट धारण कराएं। साथ ही माखन, मिश्री, धनिया की पंजीरी, तुलसी, पंचामृत भाेग लगाकर आरती करें, झूला हाे ताे भगवान कृष्ण की प्रतिमा काे झूला झुलाएं। प्रसाद ग्रहण कर उपवास खाेलें।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप धैर्य व विवेक का उपयोग करके किसी भी समस्या को सुलझाने में सक्षम रहेंगे। आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। परिवार के लोगों की छोटी-मोटी जरूरतों का ध्यान रखना आपको खुशी प्र...

और पढ़ें