दिवाली के दिन पेट्रोल पंप मालिकों को करोड़ों का नुकसान:कई पंप वालों को 10 से 12 लाख का घाटा, अलवर में  डीजल 12.67 रुपए व पेट्राेल 6.70 रुपए कम हुआ

अलवर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पेट्रोल पंप। - Dainik Bhaskar
पेट्रोल पंप।

केंद्र सरकार की ओर से एक्साइज ड्यूटी कम करने से अचानक घटे भावों के कारण पहली बार पेट्रोल पंप संचालकों को मोटा नुकसान हुआ है। अलवर जिले के करीब 100 पंप संचालकों को 3 से 4 करोड़ रुपए का घाटा हो गया है। कई बड़े पंप वालों को 10 से 13 लाख रुपए का स्टॉक पेट्रोल डीजल पर नुकसान हो गया है। अलवर में डीजल के भाव 12.67 और पेट्रोल के भाव 6.70 रुपए कम हाे गए हैं। यह नुकसान पंपों पर मॉजूद स्टॉक से हुआ है। जो पुराने भाव में खरीदा था लेकिन अब अचानक सरकार ने एक्साइज डयूटी कम कर दी। जिससे भाव गिर गए और मौजूदा स्टॉक से सबको करोड़ों का नुकसान हो गया।

एक-एक पंप पर हजाराें लीटर का स्टाॅक
जिले में दर्जनों बड़े पंपों पर हजारों लीट पेट्रोल-डीजल का स्टाॅक रहता है। खासकर महीने के अंतिम दिनों में स्टॉक बढ़ा हुआ होता है। जिसके कारण पंप संचालकों को ज्यादा नुकसान हुआ है। कई पंपों पर तो 1 लाख लीटर पेट्रोल-डीजल का स्टॉक है। उनको 10 से 12 लाख रुपए से अधिक का नुकसान है। औसतन एक-एक पंप 20 से 30 हजार लीटर का स्टॉक रहता है। बड़े पंपों पर इससे दो से चार गुना तक स्टॉक रहता है।

6 महीने से कमा रहे थे
देश में लगातार पेट्रोल व डीजल के भाव बढ़ने में लगे थे। जिससे पंप संचालक लगातार 6 महीने से कमा रहे थे। लेकिन इस बार अचानक एक्साइज ड्यूटी कम करने से 12 रुपए 67 पैसे प्रति लीटर कम हो गए। वहीं पेट्रोल पर 6 रुपए 70 पैसे प्रति लीटर कम हो गए हैं।

एक दिन पहले के भाव
एक दिन पहले अलवर में पेट्रोल 116 रुपए प्रति लीटर व डीजल 111 रुपए 88 पैसे प्रति लीटर के भाव थे। अब डीजल पर 12 रुपए 88 पैसे कम हो गए हैं। वहीं पेट्रोल पर 6 रुपए 70 पैसे कम हो गए हैं। अलवर जिले में भी अलग-अलग जगहों पर भावों में कुछ पैसे का अंतर होता है। डीजल-पेट्रोल की कंपनियों के भावों में भी कुछ पैसे का अंतर आ जाता है।