पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • Minister Of State For Labor, Tikaram Julie Said That If I Had Been Called To The Kisan Sabha, I Would Have Gone, I Have Not Received Any Information, So I Did Not Go

राजस्थान में पायलट V/s गहलोत:मंत्री टीकाराम जूली बोले- मुझे पायलट ने किसान महापंचायत में नहीं बुलाया, अगर बुलाते तो जरूर जाता

अलवर7 महीने पहले
श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली।

जयपुर में हाल में हुई सचिन पायलट की किसान महापंचायत में श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली को नहीं बुलाया गया था। यह दावा खुद जूली ने किया है। जूली ने कहा- अगर पायलट महापंचायत में मुझे बुलाते तो मैं जरूर जाता। उनकी महापंचायत में कोई सूचना मुझे नहीं मिली थी। जूली के इस बयान से यह साफ है कि पालयट और गहलोत गुट में अभी तनातनी है। हालांकि, जूली ने यह भी कहा कि उन पर पायलट, गहलोत का पूरा आशीर्वाद रहा है। यह पार्टी की गुटबाजी नहीं है। इसे यूं कह सकते हैं कि किसी के प्रति किसी विधायक या नेता का लगाव अधिक हो सकता है। बता दें कि जयपुर के कोटखावदा में पायलट की बड़ी किसान महापंचायत हुई थी। इसमें कहा गया था कि गहलोत-डोटासरा समेत सभी मंत्रियों को न्योता भेजा गया था। हालांकि, वे शामिल नहीं हुए। पढ़िए, जूली से बातचीत के मुख्य अंश:

सवाल: कांग्रेस में काम कोई करे, राज कोई। विधायक विश्वेन्द्र ने किसान महापंचायत में यह कहा है? लगता है गहलोत व पायलट की गुटबाजी और बढ़ रही है?
जूली: नहीं, ऐसी कोई लड़ाई नहीं है। सब मिलकर काम कर रहे हैं। गुटबाजी नहीं है। ये कह सकते हैं कि कुछ लोगों के विचार किसी नेता से ज्यादा मिल सकते हैं।

सवाल: राजनीतिक नियुक्तियों का पार्टी के नेताओं को इंतजार है? यह कब होंगी? अलवर में पूर्व मंत्री जितेन्द्र सिंह ही नाम देंगे?
जूली: सरकार बहुत जल्दी राजनीतिक नियुक्तियां करेगी। अलवर के पूर्व सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह पार्टी के कार्यकर्ताओं को महत्व देते हैं। उनके जो निर्देश मिलेंगे। उसी के अनुसार नियुक्तियां होंगी। आगामी एक-दो महीने में नियुक्तियां हो जाएंगी।

सवाल: बेरोजगारों को न भत्ता मिल रहा न रोजगार के अवसर बढ़ रहे। क्या कहेंगे?
जूली: देखिए, कांग्रेस शासन में पहले से 10 से 15 गुना राशि दी जा रही है। बेरोजगारी भत्ता पाने वालों की संख्या बढ़ाई है। अब 1 लाख 60 हजार से अधिक को भत्ता मिल रहा है।

सवाल: बेरोजगार क्या करें, उनके पास कोई अवसर नहीं हैं?
जूली: देखिए, देश के हालातों की जिम्मेदार केन्द्र की मोदी सरकार है। उन्होंने दो करोड़ रोजगार कहां दिए? सरकारों के गलत निर्णय से जीडीपी गिरी। आर्थिक क्षेत्र में गिरावट आने से ऐसा हुआ है।

सवाल: किसान आंदोलन तीन-चार राज्यों से आगे नहीं बढ़ा। इसका मतलब क्या समझें?
जूली: ऐसा नहीं है। दिल्ली के आसपास के अधिकर राज्यों में कृषि कानूनों का विरोध है। दूर के राज्यों के किसान भी दिल्ली में आंदोलन कर रहे हैं। सरकार को किसानों का दर्द समझना ही पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...