पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नाइट कर्फ्यू का पहला दिन:ज्यादातर कानून मानते नजर आए पर फिर भी सख्ती की तो दुकानें बंद करके घरों की तरफ भागे लोग

अलवर4 दिन पहलेलेखक: मनोज गुप्ता, भूपेंद्र प्रधान
  • कॉपी लिंक
अलवर, रात आठ बजे बाद अग्रसेन चाैराहा स्थित खुली हुई सब्जी मंडी की दुकानें। - Dainik Bhaskar
अलवर, रात आठ बजे बाद अग्रसेन चाैराहा स्थित खुली हुई सब्जी मंडी की दुकानें।

नाइट कर्फ्यू का पहला दिन, हम निकले हैं शहर में हालातों का जायजा लेने के लिए। हमने अपना सफर शुरू किया अग्रसेन चौराहे से। यहां हमने देखा कि अग्रसेन सर्किल पर अंडे, गोलगप्पे की ढकेल करीब साढ़े आठ बजे बाद भी लगी हुई हैं। एनईबी थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर ही कलेक्टर के आदेशों की पालना नहीं हा़े रही है।

इसके बाद बड़ा नजारा सब्जी मंडी के बाहर के क्षेत्र का देखने काे मिला। बाहर सब्जी की दुकानें लगी हुई हैं और लाेग सामान्य दिनाें की तरह ही अपना काम कर रहे हैं। इन्हें सरकार व कलेक्टर के आठ बजे से जीराे मोबिलिटी के आदेशों से काेई वास्ता नहीं है। इसके बाद हम बढ़े अग्रसेन से और ओवरब्रिज पुलिया की ओर, यहां पुलिया पर अंधेरा है। रोड लाइट नहीं होने से लोगों को परेशानी भी हो रही है, लेकिन नगर परिषद सहित तमाम जिम्मेदार अधिकारियों काे इससे काेई मतलब नहीं है।

भगतसिंह सर्किल से पुलिया पर बड़ी संख्या में वाहनों की आवाजाही से लग रहा है कि लोग अपने प्रतिष्ठानों को बंद करके घराें की ओर लाैटने की तैयारी में हैं। स्कीम तीन बसंत विहार पार्क के बाहर अंडे की दुकान लगी हुई है और शराब पीने वालाें की यहां भीड़ है। पुलिस कुछ देर पहले यहां सड़क की दूसरी साइड से गश्त भी करके गई लेकिन इसका डर भी इन्हें नहीं है।

अंबेडकर चौराहे से भगतसिंह के बीच पड़ने वाले कुछ रेस्टारेंट खुले हुए हैं लेकिन यहां खाने वाले नहीं है। शायद पैकिंग मतलब टेकअवे के लिए इन्हें खाेला हुआ है। अब हम भगतसिंह चाैराहा पहुंच चुके हैं। यहां से काशीराम चौराहे के बीच लगने वाली गोलगप्पे की ठेलियां नहीं है। एक आईसक्रीम की ठेली जरूरी मिली, लेकिन वह भी अपने घर जाने की तैयारी में दिखा।

यूआईटी के सामने आवश्यक सेवा में शामिल एक मेडिकल शॉप खुली हुई है। इस राेड पर लाेग पैदल घूम रहे हैं। इन लाेगाें से बात की ताे समझ आया कि इन्हें जीराे मोबिलिटी का मतलब नहीं मालूम। भास्कर ने इन्हें बताया कि इसका मतलब है कि आठ बजे बाद आवश्यक सेवाओं काे छाेड़कर घर से बाहर निकलने पर पाबंदी है तब वाे लाेग अपने घराें काे लाैट गए। हम अब काशीराम से घंटाघर चौराहे की ओर हैं जहां सड़क के दाेनाें और दुकानें बंद हैं। पूरा बाजार बंद है और इक्के-दुक्के लाेग ही सड़क पर नजर आ रहे हैं।

नगर परिषद के सफाईकर्मी रात्रिकालीन सफाई में लगे हुए हैं। बाजार लगभग सुनसान है। कंट्रोल रूम से मनुमार्ग राेड के हालात भी ऐसे ही हैं। सड़क पर सिर्फ वाहन हैं और बाजार बंद है। शहर के अतिव्यस्ततम क्षेत्र नंगली चौराहे पर भी माहौैल सुनसान है कुछ लाेग काॅफी हाउस के बाहर खड़े हुए हैं।

बिना मास्क पकड़ा युवक, साॅरी बाेला ताे सीओ बाेले चालान बनेगा साॅरी क्या हाेता है
इधर बाजार बंद कराने और गाइडलाइन की पालना के लिए सीओ सिटी राजेंद्र कुमार जाब्ते के साथ रात काे दाैरे पर निकले। शहर के सभी थाना क्षेत्राें का दाैरा करते हुए जैसे ही पुलिस की गाडियों का काफिला भगतसिंह से जेल चौराहे की और बढ़ा ताे सड़क पर बेवजह घूम रहे लाेग इधर-उधर भागते हुए दिखे।

बाजार लगभग बंद है कुछ फल वालाें की ठेलियां जेल चौराहे पर मिली ताे पुलिस ने हिदायत उन्हें भेज दिया। पुलिस अपने साथ लिए हुए पुलिस मित्राें के जरिए माइक से मुनादी भी करवाती रही। मुनादी में लाेगाें काे कहा जा रहा था कि अपने घराें काे लाैटें बेवजह बाहर नहीं खड़े रहें अन्यथा कार्रवाई हाेगी।

शिवाजी पार्क पहुंचने पर पुलिस काे माैके पर मिली एक आईसक्रीम ठेली का चालान बनाया। यहां एक युवक जाे बिना मास्क के जा रहा था सीओ सिटी ने उसे गाड़ी से उतरकर पकड़ा। पकड़े जाने पर युवक ने साॅरी मांगी ताे सीओ बाेले साॅरी क्या हाेता है चालान बनेगा। इसके बाद चालान बुक मंगवाई और दाेनाें का चालान बनाया गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें