पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कबाड़ से बनाई उपयोगी वस्तुएं:घर में रखे कबाड़ से नकारात्मक विचार आते हैं, इसलिए बनाई सजावटी वस्तुएं

अलवर18 दिन पहलेलेखक: बृजमोहन शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • मिलिए शहर की दो ऐसी महिलाओं से, जो अपने घरों से बेकार हुए पुराने सामान को फेंकती नहीं बल्कि इनसे उपयोगी वस्तुएं बनाती हैं

विशेषज्ञ कहते हैं कि घर में रखे कबाड़ से नकारात्मक विचार आते हैं, इसलिए ऐसे बेकार सामान को फेंक देना चाहिए, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो बेकार समझे जाने वाले सामान से उपयोगी एवं सजावटी वस्तुएं बनाते हैं। ऐसे लोगों ने लॉकडाउन के दौरान अपनी इस कला का बखूबी उपयोग किया और कई सजावटी सामान बना डाले। आइए मिलते हैं शहर की ऐसी दो महिलाओं से...

जब भी समय मिलता है, पुराने गत्ते, हार्ड बाेर्ड से कुछ ना कुछ बनाती हूं : सरिता शर्मा
शिवाजी पार्क निवासी सरिता शर्मा ने घर के कबाड़ समझे जाने वाले सामान से सजावटी वस्तुएं बनाई हैं। वे कहती हैं कि जब भी समय मिलता है, मैं पुराने गत्ते, हार्ड बाेर्ड, डिस्पाेजल दाैने, पुराने अखबार, ऊनी धागे से कुछ ना कुछ बनाती हूं। सजावट के लिए इन पर पाउडर कलर का प्रयोग करती हूं।

परिवार के अन्य सदस्य भी मेरा साथ देते हैं। ऐसा करने से समय भी कट जाता है और बेकार समझे जाने वाले सामान से उपयोगी व सजावटी वस्तु बन जाती है। कुछ भी बनाते समय परिवार के सभी सदस्य अपनी-अपनी राय देते हैं। हमने कई तरह की रंगोली भी बनाई हैं। ऐसा करने से बच्चों का भी मन लगा रहता है। सरिता कहती हैं कि मैंने फाइन आर्ट का काेर्स किया है। यह कोर्स अब खूब काम आ रहा है। पति धीरज उपाध्याय संगीत के टीचर हैं, वे भी सहयोग करते हैं।

कबाड़ के सामान से बनी सजावटी वस्तुएं ड्रॉइंग रूम की शोभा बढ़ा रही : मीनाक्षी

मानसराेवर काॅलाेनी निवासी मीनाक्षी शर्मा का कहना है कि मेरी बचपन से हैंडी क्राॅफ्ट में रुचि रही है। किसी से सीखा नहीं है। इसके बावजूद कबाड़ में फेंके जाने वाली वस्तुओं का उपयाेग सजावटी सामान बनाने में करती रहती हूं। लॉकडाउन के दौरान तो मैंने ऐसे बहुत सारे सजावटी सामान तैयार किए हैं, जो हमारे ड्राॅइंग रूम की शाेभा बढ़ा रहे हैं। मीनाक्षी कहती हैं कि इस समय ताे हमारा सबसे अच्छा दाेस्त हमारी कला ही साबित हाे रही है। कबाड़ हो चुके सामान से उपयोग वस्तुओ काे बनाने के लिए मैं हार्ड बाेर्ड, खाली बाेतलें, ऊनी या रेशमी धागे, विभिन्न तरह के रंग का उपयोग करती हूं। रंगाेली बनाने के लिए पाउडर कलर का प्रयाेग करती हूं। ऐसा करने से टाइम भी पास हो जाता है और घर में रखे बेकार सामान से उपयोगी व सजावटी वस्तु बन जाती है।

खबरें और भी हैं...