तीन साल से कार्यभार संभाल रहे मिश्रा बने कांग्रेस जिलाध्यक्ष:निकाय व पंचायत चुनाव के बेहतर परिणाम का मिला इनाम

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
याेगेश मिश्रा। - Dainik Bhaskar
याेगेश मिश्रा।

कांग्रेस आलाकमान ने याेगेश मिश्रा काे जिला कांग्रेस कमेटी का नया जिलाध्यक्ष नियुक्त किया है। मिश्रा पिछले तीन साल से कार्यकारी जिलाध्यक्ष का पद संभाल रहे थे। एआईसीसी के महासचिव केसी वेणुगाेपाल की ओर से प्रदेश के 13 जिलाें में नए जिला अध्यक्षाें की लिस्ट जारी की गई है। इसमें अलवर जिले का जिलाध्यक्ष मिश्रा काे नियुक्त किया गया है। अभी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता व कारागार मंत्री टीकाराम जूली के पास जिलाध्यक्ष का पद था।

विधानसभा चुनाव के दाैरान जूली की व्यस्तता के चलते याेगेश मिश्रा एवं राजेंद्र सिंह गंडूरा काे कार्यकारी जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया था। वैसे जिलाध्यक्ष पद के लिए अजीत यादव व पूर्व विधायक कृष्ण मुरारी गंगावत के नाम भी थे, लेकिन पार्टी ने योगेश मिश्रा के नाम पर अंतिम माेहर लगाई। याेेगेश मिश्रा 2005 से 2010 तक लक्ष्मणगढ़ पंचायत समिति के प्रधान रहे। 2015 से 2018 तक जिला कांग्रेस कमेटी में उपाध्यक्ष पद संभाला।

नवंबर 2018 में उन्हें कांग्रेस का कार्यकारी जिलाध्यक्ष बनाया गया था। याेगेश मिश्रा के कार्यकारी जिलाध्यक्ष रहते हुए कांग्रेस का निकाय एवं पंचायती राज चुनाव में अच्छा प्रदर्शन रहा। इसके अलावा मिश्रा कैबिनेट मंत्री टीकाराम जूूली के नजदीकी माने जाते हैं। हाल में हुए पंचायती राज चुनावों में दाेनाें ने साथ मिलकर काम किया। उसके बेहतर परिणाम आए। जिसके कारण पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने भी मिश्रा के नाम पर सहमति दी। यही माना गया है कि मौजूदा कार्यकारी अध्यक्ष को हटाकर नए को जिलाध्यक्ष बनाने की बजाय इनके नाम की ही घोषणा करने से असंतोष कम होगा।

पैनल में अजीत यादव का नाम सबसे ऊपर था
जिलाध्यक्ष पद के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से एआईसीसी काे तीन नामाें का पैनल भेजा गया था। इनमंे अजीत यादव, याेेगेश मिश्रा एवं कृष्ण मुरारी गंगावत के नाम शामिल थे। जिले के ज्यादातर विधायकों की राय भी अजीत यादव के पक्ष में थी। हाईकमान ने भी फीडबैक लिया था, लेकिन अंतिम निर्णय याेगेश मिश्रा के पक्ष में गया।

कार्यकर्ताओं काे साथ लेकर चलने का प्रयास करूंगा : मिश्रा
याेगेश मिश्रा ने कहा कि वे सभी कार्यकर्ताओं काे साथ लेकर चलेंगे। पार्टी में अगर कार्यकर्ताओं के बीच थाेड़ा बहुत मनमुटाव है तो उसे बातचीत के जरिए सुलझाएं। सारी गड़बड़ बातचीत नहीं हाेने से हाेती है। इसे खत्म कर सब काे साथ लेकर चलूंगा। पार्टी की मजबूती के लिए काम करूंगा। पार्टी ने मुझ पर विश्वास जताया है, इसके लिए कांग्रेस आलाकमान व पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह का आभारी हूं।

खबरें और भी हैं...