पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं कॉमर्स के नतीजे:जिले का रिजल्ट 96.82%, गत वर्ष से 2.07% ज्यादा विद्यार्थी पास हुए

अलवर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार बेटियों का रिजल्ट 98.55% और बेटों का 95.75% रहा, 809 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए
Advertisement
Advertisement

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर ने सोमवार को 12वीं कॉमर्स का परिणाम घोषित किया। इस बार परिणाम 96.82 प्रतिशत रहा है। पिछले साल यानि 2019 में 12वीं कॉमर्स में जिले का रिजल्ट 94.75 प्रतिशत रहा था। इस तरह इस बार पिछले साल से 2.07 प्रतिशत ज्यादा विद्यार्थी पास हुए हैं। इस बार जिले में बेटों के मुकाबले बेटियां आगे रही हैं। इस परीक्षा में 1448 छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे, इनमें से 1402 पास हुए। इस तरह जिले का परिणाम 96.82 प्रतिशत रहा। इसमें 95.75 प्रतिशत लड़के तथा 98.55 प्रतिशत बेटियां पास हुई हैं।

अलवर शहर के ओसवाल जैन सीनियर सेकंडरी स्कूल की छात्रा फ्रेया तातेड़ ने 94 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। इसी स्कूल के अंश जैन ने 92.80, पीयूष गंगावत ने 92.40 तथा ईशु गुप्ता ने 91 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। जिले के सरकारी व निजी स्कूलों में 12वीं में कॉमर्स विषय से 1448 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इनमें 895 लड़के तथा 553 बेटियों ने  परीक्षा दी।  परीक्षा में 857 लड़के पास हुए। इनमें 408 प्रथम श्रेणी, 388 द्वितीय श्रेणी तथा 61 लड़कों की तृतीय श्रेणी आई है। इसी तरह बेटियों में 401 प्रथम श्रेणी, 134 द्वितीय श्रेणी तथा 10 बेटियां तृतीय श्रेणी में पास हुई हैं। इस तरह जिले में छात्र-छात्राओं के दोनों वर्गों में 809 प्रथम श्रेणी, 522 द्वितीय श्रेणी तथा 71 छात्र-छात्राएं तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं।

ट्रक चालक का बेटा परवेज लाया 96.2 प्रतिशत अंक, बोला-नौकरी नहीं, बिजनेसमैन बनूंगा

टपूकड़ा | काबलियत है तो हालात कैसे भी हों, वे सफलता की उड़ान को रोक नहीं सकते। ट्रक चालक पिता और निरक्षर मां के बेटे परवेज ने आरबीएसई की 12वीं कॉमर्स परीक्षा में 96.20 अंक लेकर यही साबित कर दिया है। टपूकड़ा के लादिया गांव निवासी परवेज के पिता जल्लू खां एक कंपनी में चालक की नौकरी करते हैं। तनख्वाह में बस परिवार का गुजारा ही चलता है। घर के हालात ये हैं कि बिजली तक नहीं थी।

परीक्षा से पहले पिता ने जैसे-तैसे इंतजाम कर कनेक्शन लगवाया। परवेज ने भी मां-पिता के सपने को पूरा करने में कसर नहीं छोड़ी और 96.20 अंक के साथ अव्वल आकर दिखा दिया। परवेज ने बताया कि वह लगातार घंटों तक पढ़ने के बजाय वह 4-5 घंटे रोज पढ़ता है। घर में टीवी आदि है नहीं, इसलिए ज्यादा समय बर्बाद नहीं होता।

परिवार में दो भाई-बहन और हैं। परवेज के 10वीं में भी 92 प्रतिशत अंक थे, मगर उसने दूसरे बच्चों की तरह विज्ञान के बजाय कॉमर्स चुना। उसका कहना है कि मैं एमबीए करके बड़ा बिजनेसमैन बनना चाहता हूं। इसीलिए कॉमर्स लिया। सीए या बैंक की नौकरी मेरी मंजिल नहीं है।

परवेज टपूकड़ा की हैप्पी सीनियर सैकेंडरी स्कूल का छात्र है।4 से 5 घंटे करती थी पढ़ाई, आईएएस बनना है लक्ष्य12वीं कॉमर्स में 94 प्रतिशत अंक लाने वाली अलवर शहर के बीरवल के मोहल्ला निवासी फ्रेया तातेड़ का कहना है कि उसने स्कूल व कोचिंग से आने के बाद घर पर प्रतिदिन 4 से 5 घंटे पढ़ाई की। स्कूल में जो भी टीचर पढ़ाते, उसे वह घर आकर याद करती। फ्रेया का कहना है कि मेरा लक्ष्य आईएएस बनना है। तातेड़ के पिता धर्मेंद्र तातेड़ प्रॉपर्टीज का काम करते हैं।

सीबीएसई : कला में गुंजन ने 98.8, विज्ञान में नमन ने 98.2 व कॉमर्स में क्षमा ने 98% अंक प्राप्त किए

अलवर। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सोमवार को 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित कर दिए। नीमराना की राठ इंटरनेशनल स्कूल की गुंजन पुत्री अनिल यादव ने कला वर्ग में 98.8 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। बीबीरानी कस्बा निवासी छात्र नमन राणा ने सीबीएसई 12वीं विज्ञान की परीक्षा में 98.2 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं।

नमन के पिता डॉ नफेसिंह राणा कोटकासिम में पशु चिकित्सा अधिकारी हैं। नमन ने अंग्रेजी को छोड़ शेष विषयों में 99 अंक हासिल किए है। अलवर की बीएल मैमोरियल पब्लिक स्कूल की क्षमा तायल ने कॉमर्स विषय में 98 प्रतिशत अंक प्राप्त किए। पिता श्याम बिहारी तायल बिजनेस करते हैं व मां राधा तायल ग्रहणी हैं।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप अपनी रोजमर्रा की व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय सुकून और मौजमस्ती के लिए भी निकालेंगे। मित्रों व रिश्तेदारों के साथ समय व्यतीत होगा। घर की साज-सज्जा संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत हो...

और पढ़ें

Advertisement