एसीबी की पूछताछ में खुलासा:आरटीओ ऑफिस में राेज 5 से 10 लाख रुपए की घूस वसूली, ‘आरटीओ-डीटीओ तक हाेता है बंटवारा’

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • आरटीओ ने कहा-राेजाना की अवैध वसूली या रिश्वत की बात आधारहीन, हम हर तरह से जांच के लिए तैयार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की ओर से ट्रेप की कार्रवाई के बाद आरटीओ ऑफिस में काम के बदले लाेगाें से सुविधा शुल्क के रूप मेंं रिश्वत लेने का बड़ा खेल सामने आया है। एसीबी की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि आरटीओ ऑफिस में राेजाना लाखों रुपए की रिश्वत राशि एकत्र हाेती है। यह राशि वहां पर सभी में बांटी जाती है। एसीबी के एएसपी विजय सिंह ने बताया कि रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार सूचना सहायक तरुणेश कुमार, गार्ड हरीश चंद शर्मा, ई-मित्र संचालक बनवारी लाल व नंबर प्लेट बनाने वाले श्याम लाल गुप्ता से पूछताछ की गई।

पूछताछ में इन आरोपियों ने लाेगाें से ली जाने वाली रिश्वत में से अधिकारियों की हिस्सेदारी की बात बताई है। इसके अलावा आरटीओ ऑफिस के अधिकारी व कर्मचारियों की ओर से ट्रांसपोर्टरों से अवैध रूप से मंथली वसूलने का भी पता चला है। आरटीओ ऑफिस के अधिकारियों ने मंथली वसूलने के लिए निजी दलाल लगा रखे हैं। ये दलाल ट्रांसपोर्टरों से मंथली वसूलकर अधिकारियों काे पहुंचाते हैं। इस अवैध वसूली में दलालों का भी कमीशन हाेता है। एसीबी काे इस तरह की सूची और कई साक्ष्य मिले हैं। इस सूची से आरटीओ, डीटीओ व निरीक्षकों सहित अन्य कर्मचारियों के लिंक उजागर हुए हैं। इसकी जांच की जा रही है। इस मामले में एसीबी की ओर से जल्दी ही आरटीओ व डीटीओ सहित अन्य अधिकारियों से पूछताछ की जाएगी।

अधिकारियाें व दलालों की खंगाली जा रही काॅल डिटेल

एएसपी ने बताया कि आरटीओ आफिस में रिश्वत लेनदेन के गठजोड़ के खुलासे के लिए अधिकारियाें व दलालों की काॅल डिटेल व लोकेशन खंगाली जा रही है। वहीं, गिरफ्तार गार्ड हरीश चंद शर्मा के पास मिले 1.31 लाख रुपए काे लेकर पूछताछ की गई।

एजेंटाें ने बंद रखी दुकानें

एसीबी की कार्रवाई के दूसरे दिन बाद मंगलवार काे आरटीओ आफिस के बाहर अधिकांश एजेंटों ने अपनी दुकानें बंद रखीं।

एसीबी की ओर से राेजाना की अवैध वसूली या रिश्वत की बात आधारहीन है। एसीबी कहां से ये तथ्यहीन बात ला रही है? हम हर तरह से जांच के लिए तैयार हैं। एसीबी ने साेमवार काे ही अपनी पूरी जांच कर ली थी।-रानी जैन, आरटीओ, अलवर

खबरें और भी हैं...