भुगतान का इंतजार:अलवर में राेडवेज के 215 सेवानिवृत्त कर्मचारियाें के 17 करोड़ रुपए बकाया

अलवर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो
  • अगस्त 2016 से फरवरी 2021 तक सेवानिवृत्त हुए कर्मचारियाें को नहीं मिला भुगतान

अगस्त 2016 से फरवरी 2021 तक सेवानिवृत्त हुए रोडवेज के 215 कर्मचारियाें काे अभी तक ग्रेच्युटी, उपार्जित अवकाश, ओवर टाइम, नाइट अलाउंस, 9 व 18वें वर्ष में हुई पदाेन्नति, पांचवें व छठे वेतन आयाेग की सिफारिश के बाद लगे एरियर का भुगतान नहीं मिला है। इनमें अलवर आगार के 110 और मत्स्य नगर आगार के 105 सेवानिवृत्त रोडवेज कर्मी शामिल हैं।

ये कर्मचारी रोडवेज कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन अधिकारी इनसे यह कहते हैं कि जब बजट आएगा तो खाते में राशि जमा हाे जाएगी। राेडवेज से मिली जानकारी के अनुसार इन 215 कर्मचारियाें को करीब 17 करोड़ 5 लाख रुपए का भुगतान हाेना है। अलवर आगार काे अगस्त 2016 से दिसंबर 2020 तक सेवानिवृत्त 110 कर्मचारियाें काे करीब 8 कराेड़ 50 लाख रुपए तथा मत्स्य नगर आगार काे अगस्त 2016 से फरवरी 2021 तक सेवानिवृत्त 105 कर्मचारियाें काे करीब 8 कराेड़ 55 लाख रुपए का भुगतान करना है।

बीएमएस फैडरेशन के संभाग अध्यक्ष मुन्नालाल शर्मा और एटक के प्रदेश सचिव जफर इकबाल का कहना है कि समय पर सेवानिवृत्त कर्मचारियाें काे भुगतान नहीं मिलना चिंताजनक है। सरकार काे इस ओर ध्यान देना चाहिए।

सेवानिवृत्त कर्मचारियाें की बकाया राशि के भुगतान से संबंधित मामला मुख्यालय स्तर का है। मुख्यालय से बजट आने पर उनके बैंक अकाउंट में राशि जमा कराई जाएगी। सेवानिवृत्त कर्मचारियाें के भुगतान संबंधित सूचनाएं समय-समय पर मुख्यालय भेजी जाती हैं।

- नीशू कटारा, मुख्य प्रबंधक, अलवर आगार

कर्मी बोले: सोचा नहीं था ऐसा भी होगा

मुझे सेवानिवृत्त हुए करीब साढ़े चार साल हो गए। ग्रेच्युटी, नाइट अलाउंस, ओवर टाइम, पांचवें और छठे वेतन आयाेग का एरियर, 9 व 18 वर्ष की पदाेन्नति की राशि का एरियर के करीब 12 लाख रुपए भुगतान अभी नहीं मिला। नाैकरी के समय यह नहीं साेचा था कि ऐसे दिन भी देखने काे मिलेंगे। सीपीएफ पेंशन के रूप में हर महीने 2100 मिलते हैं। इनमें कम पैसे में क्या होता है।

- कैलाश, सेवानिवृत्त परिचालक मत्स्य नगर आगार

मैं अगस्त 2016 में सेवानिवृत्त हुआ था। सेवानिवृत्ति के बाद करीब 8 लाख रुपए अभी तक नहीं मिले। यह ग्रेज्युटी, ओवर टाइम, उपार्जित अवकाश, पांचवें व छठे वेतन आयाेग की मिलने वाली राशि है। राेडवेज कार्यालय के चक्कर लगाते थक गया, लेकिन काेई यह बताने काे तैयार नहीं कि पैसे कब मिलेंगे।

- जगदीश प्रसाद मीणा, सेवानिवृत्त ड्राइवर अलवर आगार

मैं 2016 में सेवानिवृत्त हुआ था। सेवानिवृत्ति के बाद राेडवेज से मिलने वाली मेरी अपनी ही रकम अभी तक मुझे नहीं मिली है। करीब 12 लाख रुपए मिलने थे। करीब 7.50 लाख रुपए ग्रेज्युटी के, 2 लाख रुपए ओवर टाइम के अलावा पांचवें व छठे वेतन आयाेग के एरियर के करीब 2.50 लाख रुपए मिलने हैं।

- नवल किशाेर, सेवानिवृत्त परिचालक मत्स्य नगर आगार

खबरें और भी हैं...