अब मरीजाें के काम आएंगे नए वेंटीलेटर:पहले दिन 10 शुरू किए, 4 गंभीर काेराेना मरीजाें काे उपलब्ध कराए

अलवर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नए वेंटीलेटराें के केलिब्रेशन में जुटे इंजीनियर, दैनिक भास्कर ने मुद्दा उठाया ताे कलेक्टर ने काम शुरू कराया

जिला अस्पताल में काेविड मरीजाें की आफत में फंसी सांसाें काे राहत देने के लिए आए वेंटीलेटर्स अब मरीजाें के काम आ सकेंगे। अस्पताल में पहली बार बुधवार काे केलिब्रेशन के बाद आईसीयू में भर्ती मरीज एक मरीज काे सामान्य अस्पताल और 3 मरीजाें काे लाॅर्ड्स हाॅस्पिटल के आईसीयू में वेंटीलेटर पर लिया गया।

इन मरीजाें का लगातार ऑक्सीजन सेचुरेशन गिर रहा था। जिला कलेक्टर ने सभी वेंटीलेटराें की रिपाेर्ट भी तलब की है। कलेक्टर के आदेश के बाद जिला अस्पताल में वेंटीलेटर का केलिब्रेशन शुरू किया गया है। केलिब्रेशन में वेंटीलेंटराें के पैरामीटर सेट किए जा रहे हैं।

पहले दिन रात 10 बजे तक 10 नए वेंटीलेटर का केलिब्रेशन किया गया। इससे ये पता चलता है कि अस्पताल में आए नए वेंटीलेटर्स का मरीजाें के लिए पिछले साल से अब तक इंस्टालेशन के बाद एक साल के दाैरान उपयाेग नहीं किया गया है। अब पहली बार ये सभी वेंटीलेटर केलिब्रेशन के बाद मरीजाें के उपयाेग में लिए जा सकेंगे।

सामान्य अस्पताल में वेंटीलेटर्स के केलिब्रेशन के लिए केटीपीएल कंपनी के इंजीनियर जुटे रहे। सभी वेंटीलेटर का 3 से 4 दिन में केलिब्रेशन कर दिया जाएगा। कुल 41 वेंटीलेटराें का केलिब्रेशन किया जाना है।

सामान्य अस्पताल और लाॅर्ड्स काेविड हाॅस्पिटल में लगाए वेंटीलेटर सीरियस मरीजाें काे नहीं लगाने का मुद्दा बुधवार काे दैनिक भास्कर ने प्रकाशित किया। इसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आ गया। कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने सीरियस काेविड मरीजाें काे तुरंत वेंटीलेटर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। इससे बुधवार शाम तक 4 गंभीर काेराेना मरीजाें काे वेंटीलेटर पर ले लिया गया।

ऐसे हैं हालात : अस्पताल प्रशासन ने नए 70 में से सिर्फ 51 वेंटीलेटर का इंस्टालेशन कराया, काम में एक भी नहीं लिया

वास्तविकता ये है कि अस्पताल प्रशासन ने पीएम केयर, फैक्ट्रियाें के सीएसआर और दानदाताओं के सहयाेग से सामान्य अस्पताल में आए 70 नए वेंटीलेटर और 10 पुराने वेंटीलेटराें में से मात्र 51 का ही इंस्टाॅलेशन कराया, जबकि 29 वेंटीलेटर अस्पताल के स्टाेर में कार्टन में बंद रखे हुए हैं।

अस्पताल प्रशासन ने 8 वेंटीलेटर पिछले साल जयपुर के आरयूएचएस काेविड हाॅस्पिटल भेज दिए थे। अलवर में इंस्टाॅलेशन के बावजूद काेराेना की एक साल की अवधि में काेविड मरीजाें की जान बचाने के लिए एक भी वेंटीलेटर काम नहीं लिया गया। अब मरीजाें की हालत देखते हुए जिला प्रशासन सख्त हुआ ताे अस्पताल प्रशासन ने केटीपीएल कंपनी के इंजीनियर से उनका केलिब्रेशन कराना शुरू किया है।
अस्पताल के पीएमओ काे स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि काेविड के गंभीर मरीजाें के लिए वेंटीलेटर्स शीघ्र शुरू कराएं। अस्पताल प्रशासन ने कुछ वेंटीलेटर के लिए सामान की जरुरत बताई है, जिसके लिए उन्हें सामान मंगवाकर जल्द शुरू करने के लिए कहा है। इसके लिए प्रशिक्षु अाईएएस लगातार माॅनिटरिंग कर रहे हैं।-नन्नूमल पहाड़िया, जिला कलेक्टर

खबरें और भी हैं...