कार्रवाई:टैंकरों से चोरी केमिकल हरियाणा की साबुन-सर्फ फैक्ट्रियां खरीदती हैं, तिजारा में भी अड्‌डा चल रहा

रामगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टैंकरों से केमिकल चोरी के मामले में खुलासा, हर टैंकर से 200 से 300 लीटर निकालते थे

टैंकरों से केमिकल चोरी का धंधा जिले में बड़े पैमाने पर चल रहा है। नौगांवा रोड़ पर कास्टिक सोडा चोरी करते पकड़े गए गिरोह के सरगना से पुलिस को तिजारा में चल रहे एक और ठिकाने का पता मिला है। वहां भी टैंकर से कास्टिक सोडा चोरी कर हरियाणा में साबुन-सर्फ बनाने वाली छोटी कंपनियों को बिना बिल के बेच दिया जाता है।

सरगना विनोद ओड राजपूत ने कई और जानकारियां पुलिस को दी हैं। उसे शुक्रवार रात पुलिस ने रामगढ़- नौगांवा मार्ग पर एक खेत में टैंकर से केमिकल चोरी करते 3 अन्य लोगों के साथ रंगे हाथ पकड़ा था। एमआईए थाना प्रभारी प्रशिक्षु आईपीएस ज्येष्ठा मैत्रेय के नेतृत्व में की गई कार्रवाई में 40 हजार लीटर कास्टिक सोड़ा से भरे टैंकर सहित 3 वाहन भी जब्त किए गए थे।

इनमें आरोपी विनोद एवं प्रदीप पुत्र चांदीराम ओड राजपूत निवासी मुल्तान नगर अलवर सगे भाई हैं। जबकि तीसरा आरोपी राकेश कुमार पुत्र ओमप्रकाश ओड निवासी सागर मैरिज होम उनका भांजा है। खेत भी राकेश का ही बताया गया है। चौथा आरोपी टैंकर चालक है।

थानाधिकारी रामनिवास मीणा ने बताया कि चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर शनिवार को न्यायालय में पेश किया गया। आरोपियों के नेटवर्क के बारे में पूछताछ की जा रही है। हालांकि उन्होंने तिजारा में चल रहे ठिकाने के बारे में अनभिज्ञता जताई है।
चालक को मिलते थे हर लीटर पर 10 रुपए

पुलिस चोरी का कास्टिक सोडा खरीदने वाले लोगों के बारे में ज्यादा खुलासा नहीं कर रही है, लेकिन पता चला है कि टैंकरों से कास्टिक सोडा चोरी करने वाले गिरोह टैंकर चालकों से सांठगांठ कर धंधा चलाते हैं। टैंकर से चोरी किए प्रति लीटर केमिकल पर उन्हें 10 रुपए हिस्सा देते हैं। हर टैंकर से करीब 200 से 300 लीटर केमिकल चोरी किया जाता। इसे जमीन में दबे टैंकर में स्टोर कर रखा जाता है। फिर हरियाणा की छोटी साबुन-सर्फ फैक्ट्री से संपर्क कर उन्हें बिना बिल का माल बता बाजार रेट से कम में बेच देत। टैंकर अलवर के एमआईए स्थित कई बड़ी फैक्ट्रियों से कास्टिक सोडा लेकर निकलते हैं।

स्टेट बॉर्डर पर बने हैं चोरी के ठिकाने

गिरफ्तार आरोपी विनोद के अनुसार टैंकरों से कास्टिक सोडा चोरी करने वाले कई गिरोह जिले में सक्रिय हैं। दिल्ली रोड पर नौगांवा से आगे तिजारा थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति जमीन किराए पर लेकर इसी तरह टैंकरों से कास्टिक सोडा चोरी का नेटवर्क चला रहा है। वहां भी टैंकर से केमिकल चोरी के बाद उतना ही पानी टैंकर में भर दिया जाता है। दो साल पहले जयपुर में भी पुलिस ने टैंकरों से कास्टिक सोडा चोरी करने का अड्‌डा पकड़ा था। लगभग हर उद्योग क्षेत्र और हाइवे पर ये ठिकाने चल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...