• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • The Backlog Of Army Recruits Standing In The Corona Era Will Be Completed Soon, For Which The General Officer Commanding In The South Western Command, Lieutenant General Alok Kleer Has Met The Chief Minister.

युवाओं के लिए अच्छी खबर:दो बड़ी सेना भर्ती रैलियां जल्द, दक्षिण-पश्चिमी कमान के लेफ्टिनेंट जनरल ने CM गहलोत से की चर्चा; एक अलवर में भी होगी

अलवर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दक्षिण-पश्चिमी कमान के ऑफिसर कमाडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अलोक क्लेर भर्ती मामले में  CM गहलोत से बातचीत कर चुके हैं। - Dainik Bhaskar
दक्षिण-पश्चिमी कमान के ऑफिसर कमाडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अलोक क्लेर भर्ती मामले में CM गहलोत से बातचीत कर चुके हैं।
  • शुक्रवार को दक्षिण-पश्चिमी कमान के ले. जनरल अलोक क्लेर ने कहा- कोरोना के दौर में हुआ बैकलॉग जल्द भरा जाएगा

सेना की भर्ती करने वाले युवाओं के लिए अच्छी खबर है। राजस्थान में जल्द ही दो बड़ी सेना भर्ती रैली होगी। इसके लिए दक्षिण-पश्चिमी कमान के लेफ्टिनेंट जनरल अलोक क्लेर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिल चुके हैं। दो सेना भर्ती रैली में एक अलवर में होगी। लेफ्टिनेंट जनरल क्लेर ने शुक्रवार को अलवर की इटाराणा छावनी में आयोजित अलंकरण समारोह में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान पूरे देश को लॉकडाउन के बाद अनलॉक की गाइडलाइन का पालन करना पड़ा है। इसके चलते सेना भर्ती नहीं हो सकी। अब कुछ राहत मिली है। अब हम बहुत जल्दी दो बड़ी सेना भर्ती करने जा रहे हैं। इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री से चर्चा हो चुकी है। हमें पूरी कोशिश करनी है कि जितना भी बैकलॉग है। उसे जल्दी से जल्दी पूरा किया जाए।

दरअसल, राजस्थान में कोरोना महामारी के कारण मार्च के बाद से सेना भर्ती रैली आयोजित नहीं हो सकी हैं। बताया जा रहा है कि अप्रैल महीने में अलवर में तीन जिलों की एक सेना भर्ती होगी। हालांकि, अभी इस भर्ती का कार्यक्रम भी घोषित नहीं हुआ है।

सेवानिवृत्त सैनिकों को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं
लेफ्टिनेंट जनरल क्लेर ने कहा कि अगले एक-दो साल में पूर्व सैनिकों के लिए अवसर बढ़ जाएंगे। इसके लिए आर्मी ने डिपार्टमेंट ऑफ इंडियन आर्मी वैटर्न्स दिल्ली में शुरू किया है। इससे सेवानिवृत्त सैनिकों को उनकी योग्यता के आधार पर अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। इसके लिए बड़ी कंपनियों से भी सेना की बात हुई है।

शहीद के परिजन को नौकरी में विलम्ब होने के सवाल पर क्लेर ने कहा कि इसके लिए सरकार और जिला सैनिक कल्याण बोर्ड के स्तर पर पूरी सुनवाई होती है। फिर भी किसी व्यक्ति विशेष के केस में कोई दिक्कत है तो उसकी जानकारी दी जा सकती है। ताकि उसका समाधान हो सके।