पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • The Minister Said That Earlier People Were Afraid Of Getting The Vaccine, Now People Are Not Getting The Vaccine If They Want To Get It Done.

नवोदय की तर्ज पर मेवात में खोल रहे स्कूल:मंत्री बोले- अल्पसंख्यक वर्ग के बच्चों को अच्छी शिक्षा से जोड़ने का लक्ष्य लेकर चल रही सरकार, वैक्सीन का हो रहा इंतजार

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों की बैठक लेते मंत्री। - Dainik Bhaskar
अधिकारियों की बैठक लेते मंत्री।

राज्य सरकार के अल्पसंख्यक मामले के मंत्री सालेह मोहम्मद ने कहा कि नवोदय की तर्ज पर अल्पसंख्यक वर्ग के विद्यार्थियों के लिए सरकार आवासीय स्कूल खोल रही है। अलवर के लक्ष्मणगढ़ व भरतपुर सहित कई जगहों पर स्कूल खोले हैं। ताकि अल्पसंख्यक वर्ग के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले। इसके अलावा सरकार सिविल सर्विसेज में जाने वाले बच्चों के लिए अलग से पैकेज भी देने लगी है। यह सरकार की बजट घोषणाएं हैं। जिनको हर हाल में पूरा किया जाएगा। मंत्री सालेह मोहम्मद ने बुधवार को अलवर के कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान अधिकारियों को साफ निर्देश दिए कि सरकार की बजट घोषणाओं को जल्दी से जल्दूी पूरा कराएं।

हो रहा वैक्सीन का इंतजार

प्रदेश सरकार की रोजाना करीब 15 लाख वैक्सीन लगाने की क्षमता है। लेकिन अब केन्द्र से वैक्सीन नहीं मिल रही है। पहले डोज के समय लोग वैक्सीन लगवाने से डर रहे थे। अब वैक्सीन के लिए भीड़ पड़ने लगी तो डोज खत्म हो गए हैं। केन्द्र सरकार को पर्याप्त संख्या में वैक्सीन भेजने की जरूरत है। ताकि प्रदेश की जनता को कोरोना महामारी से बचाया जा सके।

मंत्री ने कहा कि विभााग से जुड़ी बजट घाेषाणाओं को पूरी करना है। अल्पसंख्यकों के लिए नवोदय की तर्ज पर नवोदय की तरह आवासीय विद्यालय खाेल रहे हैं। ताकि अल्पसंख्यक के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिल सके। यह बहुत अच्छी योजना है। मुख्यमंत्री अनुकृति योजना भी लेकर आए हैं। जिसमें युवा सिविल सविर्सेज में भी आगे बढ़ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने पोर्टल भी शुरू किया है। जिसमें आमजन की समस्याओं को अधिक से अधिक निस्तारण होने लगा है। मैंने भी मुख्यमंत्री के डीम प्रोजेक्ट पर ध्यान देने के निर्देश दिए हैं।

आइएएस हो सामान्य , नियम सबके लिए बराबर
मंत्री ने बहरोड़ में एक आइएएस की जमीन पर अवैध प्लॉटिंग होने के सवाल के जवाब में कहा कि नियम सबके लिए बराबर हैं। चाहे आइएएस हो या कोई सामान्य व्यक्ति। अवैध रूप से प्लॉटिंग की जा रही है तो कार्रवाई की जानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...