पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदलाव:प्रदेश के 76 स्कूलों के नाम में से हटा ‘हरिजन’ शब्द, अलवर जिले के भी 9 स्कूल हैं शामिल

अलवर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय के आदेश पर जाति सूचक शब्द हटाए

स्कूलों के नाम में हरिजन शब्द हटाने की लड़ाई लड़ रहे संगठनों की मुहिम आखिरकार काम आई है। लंबी जद्दोजहद के बाद सरकार ने ऐसी सभी स्कूल जिनके नाम में हरिजन शब्द का प्रयोग किया जा रहा था, उन सभी स्कूलों के नाम और पते में से हरिजन शब्द को हटाकर संशोधित नाम के आदेश जारी कर दिए हैं। प्रदेश में ऐसे 76 स्कूल थे, जिनके नाम या पहचान में हरिजन शब्द का प्रयोग किया जा रहा था।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने पिछले दिनों आदेश जारी करते हुए इन सभी 76 स्कूलों के नाम व पते में से हरिजन शब्द को हटा दिया है। प्रदेश की इन 76 स्कूलों में अलवर जिले के 9 स्कूलों के नाम भी शामिल हैं। अब इन स्कूलों को सामान्य नाम से ही पुकारा जाएगा और पत्र व्यवहार भी उनके संशोधित नाम के आधार पर ही किया जाएगा। सरकार ने यह भी आदेश दिए हैं कि यदि अब भी कोई स्कूल ऐसा रहा गया है जिसमें इन शब्दों का प्रयोग हो रहा है तो उसे हटाने का प्रस्ताव भिजवाया जाए ताकि उसके नाम में से इन शब्दों को हटाया जा सके।

शिक्षा मंत्री के क्षेत्र में सबसे ज्यादा स्कूलों के नाम में था हरिजन शब्द : स्कूलों के नाम में हरिजन शब्द का प्रयोग सबसे ज्यादा शिक्षा मंत्री के जिले सीकर के स्कूलों में हो रहा था। यहां करीब 17 स्कूलों के नाम में इस शब्द का प्रयोग किया जा रहा था। निदेशक ने आदेश जारी करते हुए बूंदी व दौसा के 1-1, राजसमंद के 2, झालावाड़ के 1, करौली के 2, झुंझुनू के 11, जालौर के 2, भरतपुर के 1, सीकर के 17, बाड़मेर के 3, अलवर के 9, टोंक के 1, जयपुर के 2, श्री गंगानगर के 2, अजमेर के 2, नागौर के 2, बीकानेर के 7, डूंगरपुर के 6, भीलवाड़ा के 1 और सवाई माधोपुर के 2 ब्लॉकों के स्कूलों के नाम व पते में से हरिजन शब्द हटाए हैं।

अलवर में इन स्कूलों के जारी किए संशोधित आदेश

अलवर जिले में नौ ऐसी स्कूलें हैं जिनके नाम के संशोधित आदेश जारी किए गए हैं। अब इन स्कूलों के नाम व पते का प्रयोग करते समय हरिजन शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। इनमें मुंडावर का नांगल उदिया वार्ड 1, रामगढ़ का राप्रावि खिलौरा, तिजारा का राप्रावि कागदीवाड़ा, राप्रावि इंदर की ढाणी हमीराका, राप्रावि पाटनकला ज्ञानी की ढाणी, बहरोड़ का राप्रावि जागुवास, रैणी का राउप्रावि पाटन का बास राजपुर छोटा, लक्ष्मणगढ़ का राप्रावि घाट का बास और किशनगढ़बास का राप्रावि स्वामी लीलाशाह वल्लभग्राम शामिल हैं।

सरकार के आदेशों के बाद ऐसी स्कूलों के प्रस्ताव भेजे गए थे, जिनमें हरिजन शब्द का प्रयोग हो रहा था। अब सभी स्कूलों के नाम में से इन शब्दों को हटाते हुए सरकार ने संशोधित नाम के आदेश जारी कर दिए हैं। भविष्य में इन स्कूलों के नाम में ऐसे शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। इसके बारे में सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं।
- नेकीराम, डीईओ प्रारंभिक

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser