पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Alwar
  • The Worker Sitting On A Hunger Strike Outside The Minister's Office Was Admitted To The Hospital, Sent Wife And Daughter Home

पुलिस प्रशासन ने बेटे को भी भर्ती कराया:मंत्री के कार्यालय के बाहर अनशन पर बैठे श्रमिक को अस्पताल में भर्ती कराया, पत्नी व बेटी को घर भेजा

अलवरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अलवर. सामान्य अस्पताल में भर्ती श्रमिक निरंजन व उसका बेटा। - Dainik Bhaskar
अलवर. सामान्य अस्पताल में भर्ती श्रमिक निरंजन व उसका बेटा।

मॉडर्न सूटिंग लि. फैक्ट्री पर क्षतिपूर्ति के बकाया पांच लाख रुपए का भुगतान दिलाए जाने की मांग को लेकर श्रम राज्यमंत्री टीकाराम जूली के कार्यालय के बाहर श्रमिक निरंजन सिंह का परिवार बुधवार को चौथे दिन भी आमरण अनशन पर बैठा, लेकिन रात करीब 11 बजे पुलिस-प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और श्रमिक निरंजन व उसके बेटे अशोक आदित्य को सामान्य अस्पताल में ले जाकर भर्ती करवा दिया।

श्रमिक की पत्नी व बेटी को उनके घर भेज दिया। रात को अरावली विहार थाने के एसआई राजवीर सिंह शेखावत व मेडिकल टीम अनशन स्थल पर पहुंची और श्रमिक व उसके बेटे को उठाकर एंबुलेंस में बैठा दिया, बाद में दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया।

इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। बुधवार सुबह भी मेडिकल टीम अनशन स्थल पर पहुंची थी और श्रमिक व उसके परिवार के सदस्यों की मेडिकल जांच की थी। श्रमिक निरंजन सिंह का कहना था कि मेडिकल टीम में शामिल चिकित्सा कर्मी उससे कह कर गए कि अनशन से आपकी तबीयत खराब हाे सकती है, इसलिए अस्पताल में जाकर भर्ती हाे जाअाे। श्रमिक का कहना है कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलेगा, वह अनशन से नहीं हटेगा।

अनशन पर बैठे श्रमिक को कोर्ट में पेश होने का नोटिस : इस घटनाक्रम से पहले बुधवार सुबह अपर जिला मजिस्ट्रेट शहर ने श्रमिक निरंजन सिंह काे परिशांति भंग होने की आशंका को देखते हुए नोटिस दिया। इस नोटिस में अपर जिला मजिस्ट्रेट शहर ने श्रमिक निरंजन सिंह काे 8 जुलाई को सुबह 10 अपर जिला मजिस्ट्रेट शहर के न्यायालय में पेश हाेने के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...