कलेक्टर ने पूछा एंबुलेंस वाले ने कितने रुपए लिए:फिर अलवर कलेक्टर पहुंचे अस्पताल, कहा- सैटलाइट हाॅस्पिटल में अच्छे इंतजाम

अलवर16 दिन पहले
मरीज के बगल में बैंच पर बैठेे कलक्टर डॉ जितेंद्र कुमार ।

अलवर कलेक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी लगातार दूसरे दिन रविवार को सरकारी अस्पताल पहुंचे। दूसरे दिन काला कुआं सैटलाइट अस्पताल आए। यहां एक महिला मरीज के परिजन से पूछा कि अस्पताल आए तब एंबुलेंस ने कितना किराया लिया था।

अटेंडेंट बुजुर्ग महिला ने कहा कि बेटे से पूछकर बताती हूं। उसे नहीं पता। महिला ने कलक्टर के सामने बेटे को फोन किया। लेकिन बात नहीं होसकी। इसके बाद कलेक्टर ने अफसरों से कहा कि पता करके बताना। इसके अलावा अस्पताल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। आखिर में कलेक्टर ने कहा कि यहां पहले दिन वाले जनाना अस्पताल की तुलना में अच्छे इंतजाम हैं।

शनिवार को जनाना अस्पताल देखा था

कलक्टर ने शनिवार को अस्पतालों का निरीक्षण किया था। वहां पर मरजों के कार्ड पर चिरंजीवी लाभार्थी की मुहर नहीं होने पर नाराजगी जताई थी। लेकिन, काला कुआं सैटलाइट अस्पताल में चिरंजीवी योजना के लाभार्थियों की अच्छे से मुहर लगी मिली थी। यहीं नहीं यहां जन आधार कार्ड की वजह से दिक्कत है तो वह भी लिखा है। मुख्यमंत्री की चिरंजीवी की योजना लाभ वाली जानकारी की मुहर भी थी। कलक्टर ने कुछ मरीजों से बातचीत की। अब मौसमी बीमारी के मरीज अधिक हैं। इस कारण मेडिकल स्टाफ को मुस्तैदी से कार्य करने के निर्देश दिए हैं।

कल की तुलना में व्यवस्था ठीक

कलेक्टर ने कहा कि जनाना अस्पताल की तुलना में यहां कुछ अच्छे इंतजाम हैं। यहां भर्ती मरीजों के टिकट भी चेक किए। काउंटर की व्यवस्था देखी। आने वाले पेशेंट्स से अच्छा बर्ताव भी है और टिकट पर पूरी जानकारी लिखी है। इस कारण यहां जनाना अस्पताल की तुलना में अच्छी व्यवस्था कही जा सकती है।

मरीज की परिजन ने घर पर फोन पर जानकारी ली।फिर कलेक्टर को बताया।
मरीज की परिजन ने घर पर फोन पर जानकारी ली।फिर कलेक्टर को बताया।

पल्स पोलिया की दवा पिलाई

चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग की ओर से काला कुआं सेटेलाईट हॉस्पिटल में पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की गई। यहां कलक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने बच्चे को पोलिया की खुराक पिलाकर कार्यक्रम शुरू किया। कलेक्टर जितेंद्र कुमार सोनी ने 5 वर्ष तक के बच्चों को पल्स पोलियो की खुराक पिलाकर चॉकलेट भी बांटी। सीएचओ डॉक्टर अरविंद गेट ने बताया कि अभियान में 5 वर्ष तक के 5 लाख 41 हजार 814 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी।

इसके लिए 3406 बूथ बनाए गए हैं। डोर टू डोर जाकर दवा बच्चों को पिलाई जाएगी। पल्स पोलियो की दवा पिलाने का समय सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक रखा गया है।तीन दिवसीय पल्स पोलियो के अभियान को लेकर कल नर्सिंग छात्र छात्राओं की ओर से पल्स पोलियो अभियान जागरूकता रैली निकाली गई।

पल्स पोलिया अभियान के तहत पोलियो की खुराक पिलाते कलेकटर।
पल्स पोलिया अभियान के तहत पोलियो की खुराक पिलाते कलेकटर।
खबरें और भी हैं...