गिरफ्तार:1 करोड़ रुपए का कर्जा उतारने को, शराब तस्कर ने कराई थी दुकानों पर फायरिंग

भिवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में रंगदारी के लिए फायरिंग करने के तीन आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में रंगदारी के लिए फायरिंग करने के तीन आरोपी।
  • घटना मे प्रयुक्त कार को मोहित के परिचित के आरओ प्लांट से बरामद किया गया

शहर के दो प्रतिष्ठानों पर 20 दिन के अंदर अंधाधुंध फायरिंग कर 6 करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने की वारदातों का भिवाड़ी पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया। दोनों वारदातों के मुख्य सूत्रधार सहित उसके दो सहयोगियों को हरिद्वार व रुडकी से दबोचा गया है। मामले में अभी 8 आरोपियों की गिरफ्तारी शेष है, इनमें से मास्टरमाइंड अमित डागर दिल्ली की मंडोली जेल में बंद है। जिसे पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर जल्द लाएगी। मामले का खुलासा करते हुए एसपी राममूर्ति जोशी ने बताया कि 25 अगस्त को घटाल में मुन्ना कबाडी के गोदाम पर फायरिंग कर 5 करोड़ रुपए व 13 सितम्बर को हरीश बेकरी पर फायरिंग कर एक करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने की साजिश का मुख्य सूत्रधार गुरुग्राम के गांधीनगर निवासी दीपक अग्रवाल (32) था।

डीएसटी ने वारदात करने वाले आरोपियों की पहचान सचिन उर्फ गचनू, गौरव उर्फ चिंटू, राहुल उर्फ साधु, रोहित उर्फ कारतूस, अमित उर्फ भोला के रूप में की। इसके बाद आरोपियों के घरों को चिन्हित कर छिपने के स्थानों व परिजनों पर नजर रखी गई। टीम ने कड़ी मेहनत कर एनसीआर की कच्ची कॉलोनियों मे पैदल घूमकर बदमाशों के संबंध में जानकारी जुटाई। जिसमें मुख्य सूत्रधार दीपक के हरिद्वार में छुपे होने की सूचना मिली। डीएसटी प्रभारी मुकेश कुमार के नेतृत्व में टीम ने दो दिन तक हरिद्वार का तीन किलोमीटर के संभावित इलाके का चप्पा-चप्पा छान मारा। कांस्टेबल ओमप्रकाश व योगेश को दीपक अग्रवाल अपने साथी अमन कुमार (27) निवासी सलारपुरा के साथ एक पार्क में बैठा मिला। जहां से दोनों को दबोचा गया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसका मंडोली जेल में बंद अमित डागर से सम्पर्क मोहित (29) पुत्र ओमकुमार निवासी हुसैनपुर थाना लक्सर जिला हरिद्वार के माध्यम से हुआ था। दोनों घटनाओं मे दीपक की कार का ही उपयोग किया गया। जिस पर पुलिस ने मोहित को रूडकी से गिरफ्तार कर लिया। घटना मे प्रयुक्त कार को मोहित के परिचित के आरओ प्लांट से बरामद किया गया है।

पुलिस इस मामले में मास्टरमाइंड अमित डागर निवासी राजीव कालोनी गुरुग्राम को मंडोली जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाने की तैयारी में है। जबकि मार्च 2020 से पैरोल से फरार चल रहे टेकचन्द खेडी निवासी खेडी कलां, फरीदाबाद, पंकज भाई दुबई, राहुल उर्फ साधु सोनी निवासी भीमगढ़ खेडी थाना गुरूग्राम, सचिन उर्फ गचनू जाटव निवासी खाण्डसा मण्डी गुरूग्राम, गौरव उर्फ चिन्टू जाट निवासी खण्डेवला थाना फरूखनगर, अमित उर्फ बडा भोला निवासी हरिनगर गुरूग्राम व रोहित उर्फ कारतूस निवासी शाहबाद मोहम्मदपुर दिल्ली की पुलिस को तलाश है। कार्रवाई करने वाली पुलिस टीम में एएसपी अरुण मच्या, सीओ हरिराम कुमावत, फूलबाग थाना प्रभारी जितेन्द्र सोलंकी, डीएसटी प्रभारी मुकेश कुमार, डीएसटी के एएसआई जसवन्त सिंह, हैडकांस्टेबल मंदीप, साइबर सैल प्रभारी अवनेश, सत्तार, मोहनलाल, दयाराम, नीरज, योगेश, ओमप्रकाश, गोपीराम, सुनील, वीरेन्द्र शामिल थे।

खबरें और भी हैं...