पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संभागीय आयुक्त की अलवरवासियाें से अपील:विनम्रतापूर्वक बोले- देखिए, कोरोना ने शादी के दो दिन बाद ही दूल्हे को छीन लिया, वह दुर्भाग्यपूर्ण था, अब सामाजिक कार्यक्रम करने का भी समय नहीं

अलवरएक महीने पहले
जिला अस्पताल में अधिकारियों से मुलाकात करते संभागीय आयुक्त दिनेश यादव।

जयपुर संभागीय आयुक्त दिनेश यादव शुक्रवार को पहली बार अलवर आए। जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। कलेक्टर व चिकित्सा अधिकारियों से मीटिंग करने के बाद आम-जन से अपील की कि कोरोना का यह वैरिएंट बेहद घातक है। शादी जैसे सामाजिक कार्यक्रम टालने का प्रयास करें। देखिए, दुर्भाग्यवश राजस्थान में ऐसे भी केस सामने आ चुके हैं कि शादी के दो दिन बाद ही दूल्हे की मौत हो गई है। इसलिए चोरी छिपे शादियां नहीं करें। गाइडलाइन का पालन करने में सबका भला है।

बुखार व खांसी को हल्के में नहीं लें
आयुक्त ने कहा कि बुखार व खांसी को हल्के में नहीं लें। तुरंत कोरोना का टेस्ट कराएं। घर के देसी इलाज पर अधिक निर्भर नहीं रहें। शुरुआत से ही डॉक्टर से दवा लें। युवा लोग अधिक लापरवाही बरत रहे हैं। खांसी-बुखार होने पर पहले ध्यान नहीं दे रहे। फिर अधिक गंभीर होने पर अस्पताल ले जाना पड़ता है। प्रारंभ से ही इलाज शुरू कर देंगे तो ऑक्सीजन लेवल तक आने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अलवर का कोटा बढ़ाएंगे
आयुक्त ने यह भी माना कि अलवर में ऑक्सीजन की कमी है। कई तरह की समस्याएं आई हैं। इसको लेकर मेरी कलेक्टर से बात हो चुकी है। अलवर का ऑक्सीजन काेटा बढ़वाएंगे। ताकि आमजन को परेशानी नहीं हो।

अस्पतालों की समस्याओं काे जाना
आयुक्त ने कहा कि सरकारी व निजी अस्पतालों से जुड़ी समस्याओं पर चर्चा की है। ताकि अस्पतालों के इंतजाम अच्छे से अच्छे किए जा सकें। हम कोशिश करेंगे कि आगामी दो तीन दिनों में अलवर से जुड़ी समस्याओं का समाधान हो।

चिरंजीवी योजना में भर्ती करने पड़ेंगे मरीज
आयुक्त ने यह भी कहा कि चिरंजीवी योजना में जुड़े अस्पतालों को मरीज भर्ती करने पड़ेंगे। इस योजना से जुड़ी कोई समस्या है उस अस्पताल की जानकारी दें। ताकि आवश्यक कार्रवाई की जा सके।

खबरें और भी हैं...